रिदम धड़कनों में  प्रति पहर  खनकती ,   राग-अनुराग का एहसास है ऐसा, सुर-सरगम सजा साँसों में संगीत अधरों पर,   शब्द-भावों ने पहना लिबास वीणा की धुन के जैसा |संयोग-वियोग के भँवर में गूँथी रागिनी, राग म...