ब्लॉगसेतु

कुमार मुकुल
215
ऐसा कुछ नहीं है। यह मान्‍यता है बस।वैदिक समय में जो ब्रहृम का चिंतन करते थे यानि यह सोचते थे कि यह दुनिया किसने बनायी या यह अस्ति‍तव में कैसे आयी, उन्‍हें ब्राहृमण कहा जाने लगा। वे पढने लिखने का काम करते थे इसलिए उनको मान मिला। जो भी पढते लिखते थे वे ब्रहमण कहे गये...
कुमार मुकुल
215
आपने ये डंबल क्‍यों रखे हैंजी, फिटनेस के लिए कितने वजनी हैं येइनसे तो किसी को चोट पहुंचायी जा सकती हैमुगदर क्‍याें नहीं रखतेगदा भी रख सकते हैंक्‍या आपको देश से, धर्म से प्‍यार नहीं फिटनेस के लिए योगा कीजिएअपने मोदी जी भी करते हैंमोदी जी तो ब्रह्मचारी...
विजय राजबली माथुर
96
जैसा कि  माना जाता है द्रौपदी द्वारा दुर्योद्धन की मूर्खता पर हंसने के कारण ' महाभारत ' हुआ था जिसमें दुर्योद्धन का कौरव पक्ष समूल नष्ट हो गया था। राज्यसभा  में कांग्रेसी सांसद श्रीमती रेणुका चौधरी द्वारा प्रधानमंत्री महोदय की किसी असम्बद्ध ( इर रिलेवेंट...
Bhavna  Pathak
79
        हिंदुस्तान को अगर कथा कहानियों का देश कहा जाय तो अतिशयोक्ति न होगी। पूरब से पश्चिम, उत्तर से दक्षिण देश के चप्पे चप्पे में कथा कहानियां रची बसी मिलेंगी। यह भी कम रोचक नहीं है कि एक ही कहानी कई भारतीय भाषाओँ में थोड़े हेर फेर के साथ मिल ज...
girish billore
36
..............................
 पोस्ट लेवल : रामायण राम
राजेंद्र  गुप्ता
510
..............................
 पोस्ट लेवल : रामायण पुराण हनुमान
राजीव कुमार झा
355
रामकथा की लोकप्रियता का आलम यह है कि भारत सहित अन्य देशों में विभिन्न टी.वी. चैनलों पर इसका प्रसारण वर्षान्त तक होता रहता है.इसे उपन्यास के शक्ल में ढालने वालों में नरेंद्र कोहली से लेकर आज के दौर के लेखकों अमीश त्रिपाठी,अशोक बैंकर,देवदत्त पटनायक एवं अन्य लेखक भी स...
विजय राजबली माथुर
96
 ..................................."विजय माथुर जी ने ‘क्रांति स्वर‘ के माध्यम से अपनी विचारधारा को पेश करने की एक अनाधिकार चेष्टर की है। वर्तमान काल में यह देखने में आ रहा है कि जो आदमी धर्म के बुनियादी सिद्धांतों तक से कोरा है और जिसके आचरण में धर्म कम और पश...
Ramesh pandey
286
रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह शनिवार को अपरान्ह राजधानी रायपुर के नजदीक ग्राम भोथली चल रही रामायण प्रतियोगिता के कार्यक्रम में श्रद्धालुओं  और ग्रामीणों के बीच अचानक पहुंच गए। उन्हें बिना किसी पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के, इस प्रकार सहज-सरल भाव...
 पोस्ट लेवल : रामायण प्रतियोगिता
Ajay Singh
23
शत्रु को मित्र बनाने का मन्त्र मन्त्र:- “गरल सुधा रिपु करहिं मिताई । गोपद सिन्धु अनल सितलाई ।।” मन्त्र की प्रयोग विधि और लाभः- नवरात्रि के पवित्र समय पर इस मन्त्र को १००० बार प्रतिदिन जपें । जब आवश्यकता हो इस मन्त्र से शक्तिकृत करके गोरोचन का टीका लगा...
 पोस्ट लेवल : मन्त्र-रामायण