ब्लॉगसेतु

150
राष्ट्रप्रेम  राष्ट्रप्रेम दिल में उठे, जिसके तो हर बार। उसकी तो जय कर रहा, हरदम ही संसार।। विकट घड़ी में भी नहीं, करता जो अभिमान। उसका तो करते सभी, जीवन में सम्मानकठिन डगर को देखकर, मत खोना तुम धीर। हिम्मत से ही कर रहे, काम सफल रणवीर।...
Sanjay  Grover
400
04-07-2017मेरे पीछे का फ़्लैट(134-ए, पॉकेट-ए, दिलशाद गार्डन, दिल्ली) जो कई सालों से खाली पड़ा था, कुछ दिन पहले बिक गया है। कई दिनों से वहां से खटर-पटर, धूम-धड़ाम की आवाज़ें आ रहीं हैं। आज मैंने पिछले कई साल से बंद पड़ा अपने पिछले कोर्टयार्ड का दरवाज़ा खोला जो गंदगी से भर...