ब्लॉगसेतु

दिनेशराय द्विवेदी
56
"वैज्ञानिक भौतिकवाद" राहुल सांकृत्यायन की महत्वपूर्ण पुस्तक है, उस में भौतिकवाद को समझाते हुए राहुल जी ने भाववादी दर्शनों की जो आलोचना की है वह पढ़ने योग्य है, इस में ज्ञान के साथ साथ हमें भाषा के सौंदर्य का भी आनन्द प्राप्त होता है और व्यंग्य की धार भी। यहाँ...
sanjiv verma salil
5
राहुल एक जिजीविषा  -   सुनील दत्ता    आज के इस विराट पृथ्वी के फलक पर प्रकृति अपने गर्भ में अनेको रहस्य छुपाये रहती है | प्रकृति समय- समय पर इस खुबसूरत कायनात को नये- नये उपहारों से नवाजती आई है |कभी बड़े वैज्ञानिक, ऋषि, महर्षि, दर्शन वेत्त...
डॉ. राहुल मिश्र Dr. Rahul Misra
569
बलखङ चौक से दीवानों की गली तकआज न जाने क्यों धरती के उस निहायत छोटे-से टुकड़े पर लिखने के लिए कलम उठ गई। धरती का वह टुकड़ा, जो इतना छोटा-सा है, कि कुल जमा दो-सवा दो सौ कदमों से नापा जा सकता है। अगर कोई यह समझ बैठे, कि इन दो सौ-सवा दो सौ कदमों को वह ज्यादा से ज्यादा...
शिवम् मिश्रा
18
सभी हिन्दी ब्लॉगर्स को नमस्कार। महापण्डित राहुल सांकृत्यायन (जन्म- 9 अप्रैल, 1893; मृत्यु- 14 अप्रैल, 1963) को हिन्दी यात्रा साहित्य का जनक माना जाता है। वे एक प्रतिष्ठित बहुभाषाविद थे और 20वीं सदी के पूर्वार्द्ध में उन्होंने यात्रा वृतांत तथा विश्व-दर्शन के क...
रणधीर सुमन
16
शिवम् मिश्रा
18
सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा सादर नमस्कार।आज महापंडित राहुल सांकृत्यायन जी का जन्म दिवस है। राहुल जी ने हिन्दी को अपनी कई विधाओं से समृद्ध किया है। विषय की दृष्टि से देखा जाय तो उपन्यास, कहानी, नाटक, जीवनी, यात्रा - वर्णन, कोश, दर्शन, इतिहास, विज्ञान आदि को...
डॉ. राहुल मिश्र Dr. Rahul Misra
569
महापंडित राहुल सांकृत्यायन की कालजयी कृतिहिमालय की तराई की रंगीन मिठास : बहुरंगी मधुपुरीहिमालय के साथ जुड़ा राहुल सांकृत्यायन का नेह-प्रेम जगजाहिर है। उन्होंने ऊपरी हिमालयी परिक्षेत्र अर्थात् लदाख, तिब्बत और चीन तक कई बार यात्राएँ की हैं और यहाँ के धर्म, संस्कृति त...
डॉ. राहुल मिश्र Dr. Rahul Misra
569
निराले हीरे की खोजमहान घुमक्कड़ स्वामी, महापंडित राहुल सांकृत्यायन को एक पुरातत्त्ववेत्ता, चिंतक-विचारक एवं उपन्यासकार-कथाकार के रूप में जाना जाता है। यह सत्य है कि उन्होंने रूस, जापान, चीन, तिब्बत आदि देशों की यात्राएँ कीं और उन यात्राओं के माध्यम से प्राप्त किए ह...
Ashok Kumar
145
आज राहुल सांकृत्यायन का जन्मदिन है. इस विद्रोही लेखक ने खूब लिखा है और मानीखेज़ लिखा है. अक्सर अपने समय से आगे. जनपक्ष पर उनकी किताब "घुमक्कड़ शास्त्र" का यह हिस्सा इसकी गवाही देता है.घुमक्कड़-धर्म सार्वदैशिक विश्‍वव्‍यापी घर्म है। इस पंथ में किसी के आने की मनादी नही...
शिवम् मिश्रा
18
सभी चिट्ठकार मित्रों को सादर नमस्कार।।आज महापंडित राहुल सांकृत्यायन जी का जन्म दिवस है। राहुल जी ने हिन्दी को अपनी कई विधाओं से समृद्ध किया है। विषय की दृष्टि से देखा जाय तो उपन्यास, कहानी, नाटक, जीवनी, यात्रा - वर्णन, कोश, दर्शन, इतिहास, विज्ञान आदि कोई...