ब्लॉगसेतु

sanjiv verma salil
6
लघुकथा शर संधान *आजकल स्त्री विमर्श पर खूब लिख रही हो। 'लिव इन' की जमकर वकालत कर रहे हैं तुम्हारी रचनाओं के पात्र। मैं समझ सकती हूँ। तू मुझे नहीं समझेगी तो और कौन समझेगा?अच्छा है, इनको पढ़कर परिवारजनों और मित्रों की मानसिकता ऐसे रिश्ते को स्वीकारने की...
 पोस्ट लेवल : laghukatha लघुकथा
sanjiv verma salil
6
लघुकथाबेपेंदी का लोटा*'आज कल किसी का भरोसा नहीं, जो कुर्सी पर आया लोग उसी के गुणगान करने लगते हैं और स्वार्थ साधने की कोशिश करते हैं। मनुष्य को एक बात पर स्थिर रहना चाहिए।' पंडित जी नैतिकता का पाठ पढ़ा रहे थे।प्रवचन से ऊब चूका बेटा बोल पड़ा- 'आप कहते तो ठीक हैं लेकिन...
 पोस्ट लेवल : laghukatha लघुकथा
Sanjay  Grover
406
लघुकथाकुछ सफल लोग आए कि आओ तुम्हे दुनियादारी सिखाएं, व्यापार समझाएं, होशियारी सिखाएं।और मुझे बेईमानी सिखाने लगे।अगर मुझे बचपन से अंदाज़ा न होता कि दुनियादारी क्या है तो मेरी आंखें हैरत से फट जातीं।-संजय ग्रोवर05-08-2019
sanjiv verma salil
6
लघुकथा :सोई आत्मा *मदरसे जाने से मना करने पर उसे रोज डाँट पड़ती। एक दिन डरते-डरते उसने पिता को हक़ीक़त बता ही दी कि उस्ताद अकेले में.....वालिद गुस्से में जाने को हुए तो वालिदा ने टोंका गुस्से में कुछ ऐसा-वैसा क़दम न उठा लेना उसकी पहुँच ऊपर तक है।फ़िक्र न करो, मैं न...
 पोस्ट लेवल : laghu katha लघुकथा
रविशंकर श्रीवास्तव
5
..............................
 पोस्ट लेवल : लघुकथा
sanjiv verma salil
6
लेख-लघु कथा - नव विधान और मूल्यों की आवश्यकता*पारंपरिक लघुकथा का उद्गम व् उपयोगिता -लघु कथा का मूल संस्कृत वांग्मय में है। लघु अर्थात देखने में छोटी, कथा अर्थात जो कही जाए, जिसमें कहने योग्य बात हो, बात ऐसी जो मन से निकले और मन तक पहुँच जाए। यह बात कहने का कोई उद्द...
sanjiv verma salil
6
लघुकथा:काल की गति 'हे भगवन! इस कलिकाल में अनाचार-अत्याचार बहुत बढ़ गया है. अब तो अवतार लेकर पापों का अंत कर दो.' - भक्त ने भगवान से प्रार्थना की.' नहीं कर सकता.' भगवान् की प्रतिमा में से आवाज आयी .' क्यों प्रभु?''काल की गति.''मैं कुछ समझा नहीं.''समझो यह कि परिव...
 पोस्ट लेवल : laghukatha लघुकथा
रविशंकर श्रीवास्तव
5
..............................
 पोस्ट लेवल : लघुकथा
रविशंकर श्रीवास्तव
5
..............................
 पोस्ट लेवल : लघुकथा
रविशंकर श्रीवास्तव
5
..............................
 पोस्ट लेवल : लघुकथा