ब्लॉगसेतु

विजय राजबली माथुर
97
Mukesh Aseem17-05-2020 अमरीका साम्राज्यवादी लुटेरों का पुराना जमा हुआ सरदार है जबकि चीन उसे अपदस्थ कर सबसे बड़ा लुटेरा बनने की कोशिश में है। इसके बाद के 10-15 बडे पूँजीवादी देश साम्राज्यवादी लूट में जूनियर पार्टनर के रूप में अपने हिस्से के दावे को मजबूत करने के...
विजय राजबली माथुर
127
Jagadishwar Chaturvedi9 hrs (04-03-2020 )नरेन्द्र मोदी और कन्हैया कुमार में अंतर है !नरेन्द्र मोदी हम जानते हैं आप फेसबुक शौकीन हो,यहां जो लिखा जा रहा है,उसको पढ़ते हो।हमने सबसे पहले आगाह किया था और कहा था यह कंस की तरह काम मत करो।सच सामने है जनता पर हमले हो र...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
243
भुरभुरी भूमि पर उगे किरदार-से कँटीले कैक्टसनिर्जन परिवेश पर उकताकर कुंठित नहीं होतेये भी सजा लेते हैं अपने तन पर काँटों संग फूल   सुदूर पर्वतांचल में एक मोहक महक से महकती स्वागतातुर वादी  रंग-विरंगे सुकोमल सुमन...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
243
अरे!यह क्या ?अराजकता में झुलसता मेरा देश,अभागी चीख़ में सिसकता परिवेश।सरकारी शब्दजाल नेऊबड़खाबड़ घाटियों में धकेला है,शहर-शहर विरोध कामहाविकट स्वस्फूर्त रेला है,होंठ भींचे मुट्ठियाँ कसते नौजवानकोई मुँह छिपाकर देशद्रोहीजलाता अपना देश,अभागी चीख़ में सिसकता परिवेश।रक...
सुशील बाकलीवाल
325
      इस समय देश में जिस अफरातफरी का माहौल बना हुआ है इसमें हर उस राज्य में जहाँ BJP का शासन है वहाँ जमकर हिंसा, आगजनी, तोडफोड और जो भी सामने आए उसे नष्ट करदो का जो माहौल बनाया हुआ है क्या यह सिर्फ नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ निकाला जा...
kumarendra singh sengar
28
पिछले साल इसी दिसंबर की बात है, हम लोग बिहार के सबसे छोटे जिले शिवहर में थे. न कोई घूमने का विचार, न यहाँ छुट्टियाँ मनाने का कोई कार्यक्रम. हमारे एक मित्र राकेश द्वारा अपने देशव्यापी साईकिल अभियान का समापन अपने गृह-जनपद में किया गया था. समय भी लगभग इसी तिथि के आसपा...
kumarendra singh sengar
28
ये  आवश्यक नहीं कि आप अथवा आपका शहर आतंकिओं के निशाने पर हो और वहाँ किसी तरह का बम धमाका हो, किसी तरह की गोलीबारी हो. बिना इसके भी आतंकी अथवा उनके स्लीपर सेल अपना काम करने के लिए नए-नए रास्ते तलाशने लगे हैं. इसे किसी तरह का आकलन अथवा अनुमान मान कर अनदेखा करने...
deepak shankhdhar
814
27 सितंबर 1925, विजयदशमी के विजय दिवस पर स्थापित सं&#23...
विजय राजबली माथुर
74
Hemant Kumar Jha2 hrs (20-08-2019 )समस्या यह है कि भाजपा का मातृ संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, जिससे पार्टी को प्रेरणा और वैचारिक ऊर्जा मिलती है, अपने आर्थिक चिंतन के लिये नहीं, बल्कि अपने विशिष्ट सांस्कृतिक चिंतन के लिये जाना जाता है।1925 में जब संघ की स्थाप...
kumarendra singh sengar
28
इस बार विचार किया था कि अपने संसदीय क्षेत्र के निर्वाचन होने तक राजनैतिक पोस्ट लिखने से बचा जायेगा. ऐसा इसलिए क्योंकि वर्तमान राजनैतिक परिदृश्य में सभी लोग, उसमें हम भी शामिल हैं, पूर्वाग्रह से ग्रसित हैं. सभी का किसी न किसी दल, विचारधारा के प्रति एक तरह का पूर्वाग...