ब्लॉगसेतु

Bharat Tiwari
19
अपने पेशे के अवमूल्यन से शिक्षक आहत और क्रुद्ध — अपूर्वानंदअपना कार्यभार बढ़ाने के खिलाफ शिक्षक आन्दोलन कर रहे हैं । बहुत दिनों के बाद शिक्षकों में इस तरह की एकजुटता और उत्तेजना देखी जा रही है। दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ को पिछले दिनों अक्सर ऐसे सवालों पर...
अनंत विजय
53
अभी पिछले दिनों दिल्ली में भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय ने हिंदी में अंग्रेजी शब्दों के बढ़ते प्रयोग की चिंता को लेकर एक बैठक की । इस बैठक में विश्वविद्यालय के कुलपति और शिक्षकों के साथ संपादकों और संवाददाताओं की उपस्थिति रही । अहम बात ये...
विजय राजबली माथुर
74
नई दिल्ली। हैदराबाद विश्वविद्यालय के दलित शोधार्थी रोहित वेमुला की आत्महत्या के बाद प्रशासन पर उंगलियां उठने और कुछ मीडिया हाउसों द्वारा सरकार की शह पर खबरों के खेल से आहत हैदराबाद विश्वविद्यालय में शोध की छात्रा प्रीति रघुनाथ ने मीडिया हाउसों के नाम खुला खत लिखा ह...
हर्षवर्धन त्रिपाठी
89
इलाहाबाद विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी में इसे यहां सुन सकते हैंमीडिया की सार्क देशों के बीच विवाद सुलझाने में कोई भूमिका नहीं है। ऐसा माहौल बनाया जा रहा है। कुछ इस तरह की स्थितियां तैयार की जा चुकी हैं जिसमें लगता है कि गलती से भी मीडिया ये करने क...
विजय राजबली माथुर
99
कन्हैया का मोदी सरकार पर वार, आप अंग्रेज है तो हम भगत सिंह के सिपाहीमार्च 19, 2016 भारतJNUSU president Kanhaiya Kumarकेंद्र की मोदी सरकार पर एक बार फिर हमला बोलते हुए जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा कि वे तानाशाही के खिलाफ सीधी लड़ाई छेड़ेंगे। कन्हैया न...
sanjeev khudshah
566
विश्‍वविद्यालय की आंधी से किसको खतरासंजीव खुदशाहविगत दिनों देश में ज्ञानार्जन संस्‍थान विद्रोह और दमन के केन्‍द्र बने हुये है। हैदराबाद विश्‍वविद्यालय के छात्र रोहित वेमुला की आत्‍महत्‍या से ये मुआमला तूल पकड़ने लगा।  लेकिन यदि हम कुछ साल पीछे की  घटनाओं...
Arvind Mishra
109
मैं देख रहा हूँ मेरे कुछ मुट्ठी भर तथाकथित प्रगतिशील फेसबुकिया मित्र प्रत्यक्ष, परोक्ष और कुछ घुमा फिराकर, कभी दबी जुबान कभी मुखर होकर भी देशविरोधी तत्वों को सपोर्ट कर रहे हैं। उनकी निजी कुंठाओं , दमित इच्छाओं को शायद ऐसे मौकों की तलाश रहती है जब वे अपनी दबी रुग्ण...
sanjiv verma salil
6
पत्रकारिता विश्वविद्यालय के सांध्‍यकालीन पाठयक्रमों में प्रवेश 31 अक्टूबर 2015 तक  माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्‍वविद्यालय द्वारा संचालित सांध्यकालीन पाठ्यक्रमों में प्रवेश 31 अक्टूबर 2015 त्तक दिए जाएंगे। विश्वविद्यालय के शैक्षणिक सत्र...
अनंत विजय
53
हिंदी के यशस्वी कथाकार और लंब समय तक हंस पत्रिका के संपादक रहे राजेन्द्र यादव बहुधा कहा करते थे कि हमारे देश के विश्वविद्यालयों के हिंदी विभाग प्रतिभाओं की कब्रगाह है । हमारी उनसे इस बात को लेकर काफी बहस हुआ करती थी लेकिन वो अपनी इस राय से कभी भी डिगे नहीं । हम भले...
Vivek Rastogi
51
पढ़ाई में सब कुछ करना पड़ता है, जब सरकारी विद्यालय में पढ़ते थे तब हमारे विषय में यह भी था कि प्राचार्य महोदय को बीमारी का कारण अवकाश के लिये पत्र लिखो। हम वाकई तभी पत्र लिखना सीखे थे और लगता था कि संप्रेषण का कितना अच्छा माध्यम है, पर कभी यह समझ नहीं आता था कि हम...