ब्लॉगसेतु

रणधीर सुमन
21
किसी राष्ट्र के बौद्धिक स्तर का आकलन वहां की शिक्षा व्यवस्था के स्तर पर निर्भर करती हैं। शिक्षा का पतन किसी भी राष्ट्र के पतन का द्योतक होता है और जब शिक्षा के कर्णधार ही क्षुद्र स्वार्थवश शिक्षा की नैया डुबोने लग जायें तो शिक्षा और राष्ट्र को पूरी तरह से रामभरोसे...
अनंत विजय
56
सआदत हसन मंटो जिनका नाम साहित्य की दुनिया में बेहद गंभीरता और एक ऐसे कालजयी लेखक के तौर पर लिया जाता है जिसने साहित्य की प्रचलित मर्यादाओं को ना केवल छिन्न भिन्न किया बल्कि उसको एक नया रास्ता भी दिखाया । मंटो के बारे में दस्तावेज के संपादक बलराम मेनरा और शरद दत्त ल...
मुन्ना के पाण्डेय
375
प्रस्तुत लेख वरिष्ठ रंगकर्मी  बंसी  कौल के  साक्षात्कार का लेख  रूप में प्रस्तुति है. यह साक्षात्कार  राष्ट्रीय नाट्य विद्यायल में  मुन्ना कुमार पाण्डेय औr अमितेश द्वारा वर्ष 2013 में लिया गया था और यह समकालीन रंगमंच के दूसरे अंक में प...
S.M. MAsoom
40
 एक संतुष्ट व्यक्ति ही एक सफल व्यक्ति हो सकता है और परिश्रम के बिना सफलता का कोई रास्ता नहीं है | ---प्रोफ़ेसर पियूष रंजन अग्रवाल |जौनपुर मेरा वतन है और इसकी तरक्की के लिए काम करना यहाँ का इतिहास यहाँ की प्रतिभाएं और यहाँ के समाज की बातें दुनिया तक पहुंचाने में...
हर्षवर्धन त्रिपाठी
88
ये मेरे पिताजी की लिखी हिंदी की किताब बिहारी विमर्श है। ये किताब इलाहाबाद विश्वविद्यालय सहित कई विश्वविद्यालयों के स्नातक पाठ्यक्रम में शामिल थी। मेरी पैदाइश के पहले लिखी ये किताब है। फिर वो बैंक मैनेजर हो गए। न कोई किताब लिखी, न इसी किताबको सहेज सके। शोध पूरा करके...
गायत्री शर्मा
329
मध्यप्रदेश हिन्दी ग्रंथ अकादमी, भोपाल (म.प्र.) द्वारा प्रदेश के तीन प्रमुख विश्वविद्यालयों (विक्रम विश्वविद्यालय, देवी अहिल्या विश्वविद्यालय एवं बरकतुल्ला विश्वविद्यालय) के बी.ए. षष्ठ सेमेस्टर हिन्दी साहित्य हेतु निर्धारित पाठ्यपुस्तक 'हिन्दी नाटक, निबंध तथा स्फुट...
विजय राजबली माथुर
74
मोदी सरकार की पहली पराजयJune 22, 2014 at 8:47am          विश्वविद्यालय स्वायत्तता अपहरण का एक खेल दिल्ली में चल रहा है। इस खेल में संयोग से विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ,माकपा और भाजपा एक ही मंच पर आकर मिल गए हैं। इस खेल की ख...
ललित शर्मा
64
..............................
Lokendra Singh
99
 लो कतंत्र की सबसे अनूठी बात यह है कि इसमें सबको समान रूप से अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है। अन्य तरह की किसी भी शासन व्यवस्था में इस कदर आजादी नहीं है। दरअसल, लोकतंत्र की ताकत आम जनता में निहित है। लोकतंत्र के संचालन का सूत्र लोगों के हाथ में होता है। लोकतंत्र क...
अनंत विजय
56
दिल्ली में जिस वक्त एक पूर्वोत्तर के छात्र की कथित पिटाई से मौत पर बवाल मचा हुआ था उसी वक्त पूर्वोत्तर से एक ऐसी खबर आई जो शर्मनाक होने के साथ साथ समाज को चिंतित करनेवाली थी । दिल्ली में पूर्वोत्तर की छात्र की मौत का मामला इतना तूल पकड़ा कि उसके कोलाहल में ये खबर द...