ब्लॉगसेतु

Amit Kumar
555
Spread the love       गुरु पूर्णिमा को आषाढ़ पूर्णिमा भी कहा जाता है। इस दिन गुरु की सेवा और पूजा की जाती है। ऐसा कहा और माना जाता है कि गुरु बिन ज्ञान नहीं प्राप्त होता है। अतः जीवन के हर पड़ाव में गुरु का रहना बेहद जरूरी है। गुरु...
 पोस्ट लेवल : व्यक्ति-विशेष
Amit Kumar
555
Spread the love       संदीप महेश्वरी का नाम आज दुनियाँ का सबसे सफल लोगों के लिस्ट में शामिल है लेकिन क्या आपको पता है संदीप माहेश्वरी का जीवन भी एक समय हमारे आपके जीवन से बेहतर नहीं था | सिर्फ जीवन ही नहीं यदि बुद्धि की बात की जाय...
 पोस्ट लेवल : व्यक्ति-विशेष
4
मेरे पूज्य पिता जी!       यह घटना सन् 1979 की है। उस समय मेरा निवास जिला-नैनीताल की नेपाल सीमा पर स्थित बनबसा कस्बे में था।       पिता जी और मा...
Basudeo Agarwal
171
देखिए इंसान की कैसे शराफत मर गई,लंतरानी रह गई लेकिन सदाकत मर गई,बेनियाज़ी आदमी की बढ़ गई है इस कदर,पूर्वजों ने जो कमाई सब वो शुहरत मर गई।आदमी के पेट की चित्कार हैं ये रोटियाँ,ईश का सबसे बड़ा उपहार हैं ये रोटियाँ।मुफलिसों के खून से भरतें जो ज़ाहिल पेट को,ऐसे लोगों के लि...
Kavita Rawat
159
कभी गांव में जब रामलीला होती और उसमें राम वनवास प्रसंग के दौरान केवट और उसके साथी रात में नदी के किनारे ठंड से ठिठुरते हुए आपस में हुक्का गुड़गुड़ाकर बारी-बारी से एक-एक करके-“ तम्बाकू नहीं हमारे पास भैया कैसे कटेगी रात, भैया कैसे कटेगी रात, भैया...............
Amit Kumar
555
भारत के केंद्रीय स्वस्थ मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने शुक्रवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के 34 सदस्यीय कार्यकारी बोर्ड के चेयरमैन का पद संभाल लिया। ये भारत को दुनियाँ के सामने एक बार फिर से गौरवान्वित करने वाले पल है | भारत को दुनिया में एक नई पहचान एवं प्रतिष्...
 पोस्ट लेवल : व्यक्ति-विशेष
रवीन्द्र  सिंह  यादव
140
आप जानते हैं समानांतर रेल-पटरियों (ब्रॉड गेज़) के बीच की दूरी कितनी तय है?1676 मिलीमीटर एक मीटर सरसठ सेंटीमीटर छह मिलीमीटर पाँच फ़ुट छह इंचमैं यह हिसाब आपको क्यों समझा रहा हूँ? क्योंकि भारत में पुरुष की औसत लंबाई भी लगभग यही है...
Kavita Rawat
159
पेट की आग बुझाने के लिए रोटी अनिवार्य है। जब तक पेट में रोटी नही जाती तब तक सारी बातें खोटी लगती है। पापी पेट सबकुछ करवा सकता है। कहते हैं कि भूख की मार तलवार की धार से भी तेज होती है। भूखा कुत्ता भी डंडे की मार से नहीं डरता है और भूखा आदमी जितनी चीजें ढूंढ़ निकालता...
Amit Kumar
555
Ratan Tata’s lesser known facts: रतन टाटा एक उद्योगपति होने के अलावा, एक प्रसिद्ध परोपकारी व्यक्ति भी हैं। 82 वर्षीय रतन टाटा वर्तमान में देश के अपने हालिया योगदान से दिल जीत रहे हैं। टाटा ग्रुप -टाटा ट्रस्ट और टाटा संस कोरोनोवायरस के खिलाफ लड़ाई में शाम...
 पोस्ट लेवल : व्यक्ति-विशेष
Kavita Rawat
159
घर और दफ्तर के बीच झूलते रहना ही मेरी विवशता है, लेकिन इस विवशता में खिन्नता नहीं है, बल्कि उसी में आनंद और उत्साह लेने की मेरी प्रवृत्ति है। लेकिन इन दिनों परिस्थितियाँ कुछ भिन्न है, कोरोना वायरस के चलते लाॅकडाउन होने से जिन्दगी घर की चारदीवारी के चूल्हे-चौके के स...