ब्लॉगसेतु

0
--दुनिया में उपचार की, लगी हुई है होड़।कोरोना का आ गया, भारत में अब तोड़।।--रचे-बसे हैं देश में, कण-कण में रघुनाथ।उनके पुण्य-प्रताप से, लगी सफलता हाथ।।--कोरोना के काल में, डरे हुए थे लोग।आया टीकाकरण का, अब तो सुखद-सुयोग।।--उन्मूलन में रोग के, करो...
Ashish Shrivastava
0
लेखक : देवेंन मेवाड़ी आज के ही दिन 11 जनवरी, 1922 को इंसुलिन हार्मोन के खोजकर्त्ता सर फ्रेडरिक ग्रांट बैंटिंग और चार्ल्स बेस्ट ने दुनिया में पहली बार डायबिटीज से गंभीर रूप से पीड़ित 14-वर्षीय बालक लियोनार्ड थॉम्पसन को कनाडा के टोरंटों जनरल हास्पिटल में इंसुलिन का इंज...
शिवम् मिश्रा
0
विक्रम अंबालाल साराभाई (१२ अगस्त, १९१९ - ३० दिसंबर, १९७१) भारत के प्रमुख वैज्ञानिक थे। इन्होंने ८६ वैज्ञानिक शोध पत्र लिखे एवं ४० संस्थान खोले। इनको विज्ञान एवं अभियांत्रिकी के क्षेत्र में सन १९६६ में भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।डॉ॰ विक...
Ashish Shrivastava
0
वर्ष 2020 का रसायन नोबेल पुरस्कार दो महिला वैज्ञानिको इमैन्युयेल कारर्पेन्टीएर तथा जेनिफ़र डाडना को दिया गया है। नोबेल कमेटी के अनुसार इस वर्ष का रसायन नोबेल जीवन के कोड को दोबारा लिखने के लिये है। इमैन्युयेल कारर्पेन्टीएर (Emmanuelle Charpentier) तथा जेनिफ़र डाडना(J...
 पोस्ट लेवल : रसायन वैज्ञानिक
Ashish Shrivastava
0
वर्ष 2020 के चिकित्सा नोबेल पुरस्कारों का ऐलान सोमवार 5 अक्टूबर 2020 को किया गया है। इस बार हार्वे जे अल्टर, माइकल ह्यूटन और चार्ल्स एम राइस को यह पुरस्कार मिला है। इन तीनों को ‘हेपेटाइटिस सी’ वायरस की खोज के लिए यह पुरस्कार दिया गया है। नोबेल पुरस्कार...
Ashish Shrivastava
0
2020 एबेल पुरस्कार : हिलेल फ़स्टनबर्ग एवं ग्रिगोरी मारग्यूलस् गणित की अभूतपूर्व खोजों को सम्मानित करने के लिए नोबेल पुरस्कारों के समकक्ष ‘एबेल पुरस्कार’ दिया जाता है। कह सकते हैं कि यह गणित का नोबेल है। एबेल पुरस्कार की शुरूआत यूरोप महाद्वीप में बसे एक...
 पोस्ट लेवल : गणित वैज्ञानिक
Ashish Shrivastava
0
पीरियोडिक टेबल यानी आवर्त सारणी की रचना रसायन विज्ञान की यात्रा में बहुत बड़ा पड़ाव माना जाता है. 1869 में अस्तित्व में आई इस सारणी ने दुनिया भर में हो रहे रासायनिक तत्वों के अध्ययन को तरतीब में लाने का बहुत बड़ा काम किया था. इसके बाद ही तमाम रासायनिक तत्वों के गुणों...
 पोस्ट लेवल : रसायन वैज्ञानिक
Ashish Shrivastava
0
हाल ही में फ्रांस के वायरोलॉजिस्ट और साल 2008 में एचआईवी-विषाणु की खोज के लिए चिकित्सा विज्ञान के नोबेल पुरस्कार विजेता ल्यूक मॉन्टेनियर ने दावा किया है कि सार्स-सीओवी 2 वायरस मानव निर्मित है। उन्होंने बताया कि ये वायरस चीन के लैब में एचआईवी  वायरस के खिलाफ एक वै...
kumarendra singh sengar
0
चंद्रमा, मंगल तक अपनी वैज्ञानिक क्षमता की हनक दिखाने वाले इन्सान की हनक को एक झटके में एक वायरस ने समाप्त करके रख दिया. विश्व समुदाय के सामने सिर उठाकर अकड़ दिखाने वाला अहंकारी इन्सान एक बीमारी के सामने घुटने टेक चुका है. अभी तक के तमाम चिकित्सकीय आविष्कारों में से...
Ashish Shrivastava
0
वैज्ञानिक अनुप्रयोग के महत्व के संदेश को व्यापक तौर पर प्रसारित करने के लिए हर वर्ष 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस मनाया जाता है। इस आयोजन के द्वारा मानव कल्याण के लिए विज्ञान के क्षेत्र में घटित होने वाली प्रमुख गतिविधियों, प्रयासों और उपलब्धियों को प्रदर्शित...