ब्लॉगसेतु

HARSHVARDHAN SRIVASTAV
765
चित्र साभार : en.wikipedia.org सालिम मोईनुद्दीन अब्दुल अली( डॉ . सालिम अली) का जन्म 12 नवंबर, 1896 में वर्तमान मुंबई के सुलेमान बोहरा मुस्लिम परिवार में हुआ था। सलीम के पिता मोईनुद्दीन की मृत्यु उनके जन्म के 1 साल बाद हो गई थ...
Ashish Shrivastava
124
अलबर्ट आइन्स्टाइन ने 1905 में “विशेष सापेक्षतावाद(Theory of Special Relativity)” तथा 1915 में “सामान्य सापेक्षतावाद(Theory of General Relativity)” के सिद्धांत को प्रस्तुत कर भौतिकी की नींव हीला दी थी। सामान्य सापेक्षतावाद के सिद्धांत के अनुस...
Ashish Shrivastava
124
चार्ल्स डार्विन 12 फरवरी महान वैज्ञानीक चार्ल्स डार्विन का जन्मदिन है। यह उस महामानव का जन्मदिन है जिसने अपने समय की जैव विकास संबधित समस्त धारणाओं का झुठलाते हुये क्रमिक विकासवाद(Theory of Evolution) का सिद्धांत प्रतिपादित किया था। जीवों में वातावरण और परिस्थितियो...
 पोस्ट लेवल : वैज्ञानिक
विजय राजबली माथुर
73
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )http://www.livehindustan.com/news/editorial/subeditorial/article1-story-57-116-292305.htmlआज के हिंदुस्तान मे प्रकाशित यह सम्पाद्कीय एक बहुत महत्वपूर्ण...
Dr. Zakir Ali Rajnish
82
सपने देखना और उन सपनों की तामीर कर पाना, हर किसी के वश में नहीं हो पाता। यही कारण है हमारे देश में बहुत से युवा सपने तो देखते हैं, पर बिना किसी सरपरस्‍ती और आर्थिक मदद के उनके सपने अधूरे रह जाते हैं। इससे न सिर्फ युवाओं के भीतर निराशा घर कर जाती है, वरन देश और समाज...
Arshia Ali Ali
72
देश में आये दिन निर्दोष महिलाओं को जादू-टोने के आरोप में प्रताड़ित करने की घटनाएं होती है उनमें से अधिकांश मामले आम लोगों की नजरों के सामने नहीं आते, सिर्फ ऐसी घटनाएं जिनमें महिला को दी गई प्रताड़ना हद से बाहर सी हो गई हो, सांघाटिक चोटें पहुंची हो या हत्या हो गई हो,...
Ashish Shrivastava
124
एलन ट्युरिंग भविष्य मे जब भी इतिहास की किताबे लिखी जायेंगी, एलन ट्युरिंग का नाम न्युटन, डार्विन और आइंस्टाइन जैसे महान लोगो के साथ रखा जायेगा। ट्युरिंग की दूरदर्शिता ने मानवता को संगणन, सूचना तथा पैटर्न का महत्व सीखाया और उनके जन्म के 100 वर्ष पश्चात तथा दुःखद मृत्...
 पोस्ट लेवल : गणित वैज्ञानिक
संगीता पुरी
113
‘ज्‍योतिष : सच या झूठ’ नामक अपने ब्‍लॉग में जहां एक ओर ज्‍योतिष की समस्‍त कमजोरियों को स्‍वीकार किया है , वहीं दूसरी ओर इसके उज्‍जवल पक्ष की मैने वकालत भी की है। मैं इस विद्या का अंध भक्‍त नहीं हूं , फिर भी मैने पाया कि इस विद्या में वैज्ञानिकता की कोई कमी नहीं। यह...
विजय राजबली माथुर
96
कल 06 अप्रैल - दंतेवाड़ा त्रासदी की वर्षगांठ के अवसर पर हम आज  यह बताना चाहते हैं कि 'हिंसा' को छोड़ कर अपने संसदीय लोकतन्त्र के माध्यम से ही हम 'मानव जीवन को सुंदर,सुखद और समृद्ध' बनाने हेतु प्रयास करके सफल हो सकते हैं। दो वर्ष पूर्व इस त्रासदी पर मैंने समाधा...
विजय राजबली माथुर
73
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )बाजारवाद,ढोंग और पाखंड ने मिल कर सभी पर्वो की वैज्ञानिकता समाप्त कर दी है। कुछ लोग समन्वय का प्रयास कर रहे है लेकिन अहंकारी लोग उनका उपहास उड़ाते और सां...