ब्लॉगसेतु

Bharat Tiwari
19
शर्मिला बोहरा जालान चित्रकार कहानीकार हैं। उनकी कहानियों का चित्रकार बड़ा है और उसका कैनवास भी। शर्मिला की कहानियाँ सम्हल-सम्हलकर, कलम से कसे गए पेंचों को खोलते हुए पढ़ना आनंद देता है। वाह! पढ़िए कहानी ‘माँ, मार्च और मृत्यु’ ... भरत एस तिवारी/ शब्दांकन संपादकHind...
Bharat Tiwari
19
दुःख या सुख कई जगहों से आता रहता है और जाता भी रहता है - शर्मिला बोहरा जालानसमीक्षा: जयशंकर की प्रतिनिधि कहानियांदुःख या सुख कई जगहों से आता रहता है और जाता भी रहता है। यह सब कुछ बहुस्तरीय चेतना से होता है जिन्हें मैं इन कहानियों में हर बार नए ढंग से पढ़ और समझ पाती...
Bharat Tiwari
19
शर्मिला बोहरा जालान की कहानी ‘ई-मेल’ | Heart touching story in Hindi by Sharmila Bohra Jalan...शर्मिला बोहरा जालान किसी कहानी को कहने से पहले उस कहानी की सोच में गहरी पैठ तक जाने वाली युवा कहानीकार हैं. उनके लेखन से यह अहसास होता है कि जहाँ एक तरफ आज की पीढ़ी के वह...
prabhat ranjan
34
नवरात्र के दौरान बांगला समाज के जीवन, उनकी संस्कृति और एक स्त्री के निजी जीवन की त्रासदी को लेकर बांगला भाषा की नई दौर की चर्चित लेखिका मंदाक्रान्ता सेन का उपन्यास है 'अंधी छलांग'. आज महानवमी है. आज इस उपन्यास पर लिखा यह लेख. लिखा है हिंदी लेखिका शर्मिला बोहरा जाला...