ब्लॉगसेतु

संतोष त्रिवेदी
203
 शायर फिर से बोला है,ज़हर फ़िज़ा में घोला है।रोज़ सियासत रिसती है,जब भी मुँह खोला है।कट्टरता,पाखंड में चुप्पी,रंगा मज़हबी चोला है।पक्के गाँधीवादी ठहरे,हाथ ‘अहिंसा-गोला’ है।मज़हब सबसे ऊपर है,असली यही फफोला है।‘हम सब मानव हैं पहले’शायर क्यूँ ना बोला है !—संतोष त...
ज्योति  देहलीवाल
40
महाराजा अग्रसेन भगवान श्रीकृष्ण के समकालीन थे। उनका जन्म द्वापर युग के अंत व कलयुग के प्रारंभ में अश्विन शुक्ल प्रतिपदा को हुआ था। इसलिए नवरात्रि के प्रथम दिवस को अग्रसेन महाराज की जयंती के रूप में मनाया जाता हैं। अग्रसेन जयंती पर अपने दोस्तों, रिश्तेदारों एवं सभी...
Sanjay  Grover
311
 
ज्योति  देहलीवाल
40
दोस्तो, हर साल 5 सितंबर को पूरे भारत में पूर्व राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिवस के रुप में शिक्षक दिवस मनाया जाता है। हम सभी के जीवन में सफलता के पीछे एक शिक्षक का हाथ होता है जो की हमारे शिष्यकाल के समय हमें सही मार्ग पर चलने की प्रेरणा देते है। यह अ...
Manisha Sharma
295
ट्रैवलिंग यात्रा सफर पर्यटन सैर शेर-शायरी मुहावरे गाने और वाक्ययूं आजकल पर्यटन ट्रैवलिंग का शौक काफी बढ़ गया है। हर किसी को दुनिया घूमने का शौक़ नहीं होता, पर जिन्हें होता है वो ही जानते हैं कि जगह जगह घूमना क्या होता है। घमुक्कड़ ही पर्यटन के लिये यात्रा की असली क़ी...
ज्योति  देहलीवाल
40
श्रीकृष्ण का जन्म भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को आधी रात में मथुरा में हुआ था। इसलिए श्रीकृष्ण के जन्मदिन के रूप में जन्माष्टमी मनाई जाती है। इसे भारत में ही नहीं, बल्कि विदेश में रहने वाले भारतीय भी बहुत धूम-धाम से मनाते हैं। इस खास मौके पर लोग एक-दूसरे को...
ज्योति  देहलीवाल
40
रामनवमी का त्यौहार चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की नवमी को मनाया जाता है। हिंदू धर्मशास्त्रों के अनुसार इस दिन मर्यादा-पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम जी का जन्म हुआ था। इसलिए चैत्र नवरात्रि के अंतिम दिन श्रीराम जी के जन्मदिन के रुप में रामनवमी मनाई जाती हैं। रामनवमी प्रभु राम...
Manav Mehta
416
देर रात जब मोहब्बत नेदस्तक दी चौखट परमैनें अपनी रूह को जलादिल को रोशन कर दियालफ्ज़ दर लफ्ज़ चमकने लगे ज़हन मेंमैनें एक एक करकेइश्क़ के सभी हर्फ़ पढ़ डालेइश्क़ मेहरबान हुआ मुझ परदुआएं कबूल हुईं मेरीहर्फे- मोहब्बत मेंतेरा नाम लिखा पाया...!!देर रात जब मोहब्बत नेदस...
Manav Mehta
416
मैं कुछ कुछ भूलता जाता हूँ अबमेरी ख़्वाहिशें, मेरी चाहतमेरे सपने, मेरे अरमानमैं कुछ कुछ भूलता जाता हूँ अब...देर शाम तक छत पे टहलनाडूबते सूरज से बातें करनानीले कैनवस पर रंगों का भरनामैं कुछ कुछ भूलता जाता हूँ अब...किताबों के संग वक़्त बितानाहर शायरी पे 'वाह' फ़रमानाहर...
ज्योति  देहलीवाल
40
14 फरवरी, साल का सबसे रोमांटिक और प्यारा दिन। इस दिन का हर प्यार करनेवाले को बेसब्री से इंतजार रहता हैं। वास्तव में, वैलेंटाइन डे का असली मतलब है, यूरोप की ‘लीव इन रीलेशनशिप’ का विरोध और भारत की ‘शादी’ जैसी पवित्र संस्था का समर्थन!! लेकिन आज वैलेंटाइन डे की वास्तवि...