ब्लॉगसेतु

अनीता सैनी
41
शिकवा करूँ न करूँ तुमसे शिकायत कोई, बिखर गया दर्द, दर्द का वह मंज़र लूट गया,  समय के सीने पर टांगती थी शिकायतों के बटन, राह ताकते-ताकते वह बटन टूट गया |मज़लूम हुई मासूम मोहब्बत ज़माने की,   भटक गयी राह अच्छे दिनों के दरश को तरस...
Nitu  Thakur
533
जुदा है जिंदगी अपनीजुदा अपनी कहानी हैभुला देना की दुनिया मेंतुम्हारी एक दीवानी हैये बिखरे रंग जीवन केसमेटे फिर न जायेंगेतुम्हें बेचैन कर देंगेकभी जब याद आएंगे तेरी रंगीन है दुनिया मेरे दिल में वीरानी है मेरी बेनूर आँखों में तो बस ठहरा सा पा...
shashi purwar
116
                                    बात  बिगड़ी  तो  किसी  से  भी&...