ब्लॉगसेतु

अनीता सैनी
12
शिकवा करूँ न करूँ तुमसे शिकायत कोई, बिखर गया दर्द, दर्द का वह मंज़र लूट गया,  समय के सीने पर टांगती थी शिकायतों के बटन, राह ताकते-ताकते वह बटन टूट गया |मज़लूम हुई मासूम मोहब्बत ज़माने की,   भटक गयी राह अच्छे दिनों के दरश को तरस...
सुनील  सजल
248
लघुव्यंग्य- थकानशाम का समय ।पति कादफ्तर से लौटना  ।पत्नी को चाय बनाने में थोड़ी देर हो गयी ।"इतनी देर लगा दी बनाने में ..!""आज कुछ थकान  सी लग रही है ।""सारे कपडे धोये हैं ,बिस्तर के ..।""सारे दिन  तो घर में आराम से रहती हो एक दिन के काम में थकान महसू...
ANITA LAGURI (ANU)
431
कभी चाहा नहीं कि  अमरबेल-सी तुमसे लिपट जाऊँ ..!!कभी चाहा नहीं कीमेरी शिकायतेंरोकेंगी तुम्हें...!चाहे तुम मुझे न पढ़ने की बरसों की पीड़ा का त्याग  करो न  करो।        हाँ !ख़ामोशी  से जलनाआता है मुझ...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
292
ख़ामोश अदा चेहरे की ,व्यंगपूर्ण मुस्कान ,या ख़ुद को समझाता तसल्ली-भाव....?आज आपकी डबडबाई आखों में रेटिना के आसपास तैरते हुए चमकीले मोती देखकर.....मेरे भीतर भी कुछ टूटकर बिखर-सा गया है ......   ज़ार-ज़ार रोती आँखें मुझे भाती नहीं ,आँखे...
Bhavna  Pathak
79
राखी आई राखी आईयादें बहनों की संग लाईमीठी यादें वो बचपन कीधींगामुश्ती छीना झपटीकभी चिढ़ाना कभी झगड़नाकभी शिकायत झूठी करनापर जब चोट लगे भाई कोबहना दौड़ी दौड़ी आईराखी आई राखी आईयादें बहनों की सेग लाईप्यार अनोखा भाई बहन कामिले न ढूंढ़े इसके जैसाडोर नेह की अद्भुत बंधनय...
Sanjay  Grover
702
हास्य-व्यंग्यमैं एयरपूंछ से फलानी बोल रही हूं, संजय जी बोल रहे हैं ? ‘संजय जी तो यहां कोई नहीं है ! ....’ .......(तिन्न-मिन्न, कुतर-फुतर.....) यहां तो संजय ग्रोवर है..... (आजकल एक साइट भी, जो पहले संजय ग्रोवर के नाम से मेल भेजती थी, संजय जी के नाम से भेजने लगी है,...
जन्मेजय तिवारी
452
                  जब से राजमाता लोमड़ी ने वानप्रस्थ आश्रम में जाने की तैयारी शुरु की है, तभी से अखिल जंगल दल का समूचा बल युवराज के सिर पर टूट पड़ा है । सत्ता का सुख ही ऐसा होता है कि त्याग की मूर्ति देवी को भी राजमा...
सुशील बाकलीवाल
328
                वैवाहिक वर्षगांठ की पूर्वसंध्या पर पति-पत्नी साथ में बैठे चाय की चुस्कियां ले रहे थे । संसार की दृष्टि में वो एक आदर्श युगल थे, दोनों में प्रेम भी बहुत था, लेकिन कुछ समय से ऐ...
अर्चना चावजी
367
लड़कियाँ तो वैसे ही सुन्दर होती हैं ....ब्यूटीपार्लर क्यों जाती है ? .... लेकिन ये आन्टी की बिन्दी बहुत अच्छी लगी ..........मुझे भी ऐसे वाला लगाना है नानी ....- मायरा 
 पोस्ट लेवल : नटखटपन शिकायत फोटो
मधुलिका पटेल
546
तुमने बड़ी खामोशी से लौटाए कदमपर मेरे दिल पर दस्तक हो ही गई मेरे हमदम आते हुए कदमों में एक जोश थालौटता हुआ हर कदम ख़ामोश था वो शिकायतों की गिरह ख़ोल तो देता जो तूने अपने मन में बांधी थीदो लफ़जों में बोल तो देतानासूर जो तूने बिना वजह पालेउसकी दवा मुझस...