ब्लॉगसेतु

Saransh Sagar
228
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); एक बूढ़ा कारपेंटर अपने काम के लिए काफी जाना जाता था , उसके बनाये लकड़ी के घर दूर -दूर तक प्रसिद्द थे . पर अब बूढा हो जाने के कारण उसने सोचा कि बाकी की ज़िन्दगी आराम से गुजारी जाए और वह अगले दिन सुबह-सुबह अ...
Saransh Sagar
228
बहुत समय की बात है ! ये कहानी किवदंती य शायद youtube पर भी आपने जरुर सुनी होगी और किसी तरह हम तक पहुंची तो सोचा इसे अपने शब्दों में आप सभी पाठको तक पहुँचाया जाये ! चीन य जापान इन्ही में से किसी एक देश में जैकी नाम का एक कुत्ता अपने मालिक और मालकिन के साथ रहता था !...
Saransh Sagar
228
ट्रेन दोपहर ३ बजे की थी और कड़की सर्दी का मौसम था !! कोहरा होने के कारण ट्रेन रात 9 PM बजे की हो गयी पर ट्रेन पकड़ने से पहले एक बार नेट पर चेक करना सबने उचित समझा तो भाई ने 7 PM बजे नेट पर चैक करके बताया कि गाड़ी अब रात 11 PM बजे की है !! मै शादी में नही जा रहा था लेक...
Saransh Sagar
228
‘‘तो कितने दिनों के लिए जा रही हो ?’’ प्लेट से एक और समोसा उठाते हुए दीपाली ने पूछा. ‘‘यही कोई 8-10 दिनों के लिए,’’ सलोनी ने उकताए से स्वर में कहा !औफिस के टी ब्रेक के दौरान दोनों सहेलियां कैंटीन में बैठी बतिया रही थीं !सलोनी की कुछ महीने पहले ही दीपेन से नईनई शादी...
Saransh Sagar
228
एक सभ्रांत प्रतीत होने वाली अति सुन्दरी ने विमान में प्रवेश किया और अपनी सीट की तलाश में नजरें घुमाईं । उसने देखा कि उसकी सीट एक ऐसे व्यक्ति के बगल में है जो जिसके दोनों ही हाथ नहीं है। महिला को उस अपाहिज व्यक्ति के पास बैठने में झिझक हुई !उस 'सुंदर' महिला ने...
Saransh Sagar
228
एक सेठ जी बहुत ही दयालु थे , धर्म-कर्म में यकीन करते थे । उनके पास जो भी व्यक्ति उधार मांगने आता,वे उसे मना नहीं करते थे । सेठ जी मुनीम को बुलाते और जो उधार मांगने वाला व्यक्ति होता उससे पूछते कि "भाई ! तुम उधार कब लौटाओगे ? इस जन्म में या फिर अगले जन्म में ?" जो ल...
Saransh Sagar
228
बेटे से काम लेने के आदि हो चुके पिता को तब चिंता सताने लगी जब देर तक सोने की आदत ने उनकी कमाई पर हमला बोल दिया !! क्योंकि सुबह सुबह कार्तिक ही दुकान खोलता और वहां सुबह के 10 बजे तक बैठता था। अब कार्तिक कॉलेज जाने लगा तो न नींद पिता जी की खुलती न ही दुकान पर कमाई अच...
Saransh Sagar
228
 ट्यूशन का टाइम हो गया था और इंटीग्रेशन करते करते बहुत तेज भूख भी लग रही थी !! सर को प्रणाम करके सबको राम राम करके ज्यों ही घर की तरफ बढ़ा ! बारात के आवाज ने कानों में दस्तक दे दी !! साथ में दोस्त अजय ने बारात में शामिल होकर बारात घर में खाने को चलने के लिए कहा...
Saransh Sagar
228
जयश्रीराम मित्रोकुछ दिनो पहले किसी कारण से एक समस्या को सुलझाने हेतु दिल्ली का भ्रमण करना पड़ा और रास्ते में इंडिया गेट घूमने का मन किया तो सोचा घूम लू ! घूमने के दौरान इंडिया गेट पर अच्छा-खासा जमावड़ा देखने को मिला क्योंकि रविवार भी था ! रेलगाड़ी की तरह स्कूल के...
Saransh Sagar
228
जो लड़किया कम कपड़े पहनती है, उनके लिये एक पिता की ओर से समर्पित एक लड़की- को उसके पिता ने iPhone गिफ्ट किया..दूसरे दिन पिता ने लड़की से पूछा, बेटी iPhone मिलने के बाद सबसे पहले तुमने क्या किया ?लड़की :- मैंने स्क्रेच गार्ड और कवर का आर्डर द...