ब्लॉगसेतु

Ajay Singh
22
शिवमहापुराण -तृतीय शतरुद्रसंहिता – अध्याय 05 श्री गणेशाय नमः श्री साम्बसदाशिवाय नमः पाँचवाँ अध्याय वाराहकल्प के दसवें से अट्ठाईसवें द्वापर तक होनेवाले व्यासों एवं शिवावतारों का वर्णन शिवजी बोले — [हे ब्रह्मन् !] दसवें द्वापरयुग में जब त्रिधामा नामक मुनि व्यास...
 पोस्ट लेवल : शिवपुराण
Ajay Singh
22
शिवमहापुराण -तृतीय शतरुद्रसंहिता – अध्याय 04 श्री गणेशाय नमः श्री साम्बसदाशिवाय नमः चौथा अध्याय वाराहकल्प के प्रथम से नवम द्वापर तक हुए व्यासों एवं शिवावतारों का वर्णन नन्दीश्वर बोले — हे सनत्कुमार ! हे सर्वज्ञ ! अब शंकरजी के जिस सुखदायक चरित्र को हर्षित होक...
 पोस्ट लेवल : शिवपुराण
Ajay Singh
22
शिवमहापुराण -तृतीय शतरुद्रसंहिता – अध्याय 03 श्री गणेशाय नमः श्री साम्बसदाशिवाय नमः तीसरा अध्याय भगवान् शिव का अर्धनारीश्वर-अवतार एवं सती का प्रादुर्भाव नन्दीश्वर बोले — हे तात ! हे महाप्राज्ञ ! अब मैं ब्रह्माजी की मनोकामनाओं को पूर्ण करनेवाले शिव के उत्तम अ...
 पोस्ट लेवल : शिवपुराण
Ajay Singh
22
शिवमहापुराण -तृतीय शतरुद्रसंहिता – अध्याय 02 श्री गणेशाय नमः श्री साम्बसदाशिवाय नमः दूसरा अध्याय भगवान् शिव की अष्टमूर्तियों का वर्णन नन्दीश्वर बोले — हे प्रभो ! हे तात ! हे मुने ! अब महेश्वर के समस्त प्राणियों को सुख प्रदान करनेवाले तथा लोक के सम्पूर्ण कार्...
 पोस्ट लेवल : शिवपुराण
Ajay Singh
22
शिवमहापुराण -तृतीय शतरुद्रसंहिता – अध्याय 01 श्री गणेशाय नमः श्री साम्बसदाशिवाय नमः पहला अध्याय सूतजी से शौनकादि मुनियों का शिवावतार विषयक प्रश्न वन्दे महानन्दमनन्तलीलं महेश्वरं सर्वविभुं महान्तम् । गौरीप्रियं कार्तिकविघ्नराज समुद्भवं शङ्करमादिदेवम् ॥ मैं...
 पोस्ट लेवल : शिवपुराण
Ajay Singh
22
शिवमहापुराण – द्वितीय रुद्रसंहिता [पंचम-युद्धखण्ड] – अध्याय 58 श्री गणेशाय नमः श्री साम्बसदाशिवाय नमः अट्ठावनवाँ अध्याय काशी के व्याघेश्वर लिंग-माहात्म्य के सन्दर्भ में दैत्य दुन्दुभिनिर्ह्राद के वध की कथा सनत्कुमार बोले — हे व्यासजी ! सुनिये, मैं शिवज...
 पोस्ट लेवल : शिवपुराण
Ajay Singh
22
शिवमहापुराण – द्वितीय रुद्रसंहिता [पंचम-युद्धखण्ड] – अध्याय 57 श्री गणेशाय नमः श्री साम्बसदाशिवाय नमः सत्तावनवाँ अध्याय महिषासुर के पुत्र गजासुर की तपस्या तथा ब्रह्मा द्वारा वरप्राप्ति, उन्मत्त गजासुर द्वारा अत्याचार, उसका काशी में आना, देवताओं द्वारा भ...
 पोस्ट लेवल : शिवपुराण
Ajay Singh
22
शिवमहापुराण – द्वितीय रुद्रसंहिता [पंचम-युद्धखण्ड] – अध्याय 56 श्री गणेशाय नमः श्री साम्बसदाशिवाय नमः छप्पनवाँ अध्याय बाणासुर का ताण्डव नृत्य द्वारा भगवान् शिव को प्रसन्न करना, शिव द्वारा उसे अनेक मनोऽभिलषित वरदानों की प्राप्ति, बाणासुरकृत शिवस्तुति न...
 पोस्ट लेवल : शिवपुराण
Ajay Singh
22
शिवमहापुराण – द्वितीय रुद्रसंहिता [पंचम-युद्धखण्ड] – अध्याय 54 श्री गणेशाय नमः श्री साम्बसदाशिवाय नमः चौवनवाँ अध्याय नारदजी द्वारा अनिरुद्ध के बन्धन का समाचार पाकर श्रीकृष्ण की शोणितपुर पर चढ़ाई, शिव के साथ उनका घोर युद्ध, शिव की आज्ञा से श्रीकृष्ण का उ...
 पोस्ट लेवल : शिवपुराण
Ajay Singh
22
शिवमहापुराण – द्वितीय रुद्रसंहिता [पंचम-युद्धखण्ड] – अध्याय 53 श्री गणेशाय नमः श्री साम्बसदाशिवाय नमः तिरपनवाँ अध्याय क्रुद्ध बाणासुर का अपनी सेना के साथ अनिरुद्ध पर आक्रमण और उसे नागपाश में बाँधना, दुर्गा के स्तवन द्वारा अनिरुद्ध का बन्धनमुक्त होना स...
 पोस्ट लेवल : शिवपुराण