ब्लॉगसेतु

Basudeo Agarwal
200
चरैवेति का मूल मन्त्र ले, आगे बढ़ते जाएंगे,जीव मात्र से प्रेम करेंगे, सबको गले लगाएंगे,ऐतरेय ब्राह्मण ने हमको, ये सन्देश दिया अनुपम,परि-व्राजक बन सदा सत्य का, अन्वेषण कर लाएंगे।(लावणी छंद आधारित)*********संस्कृति अरु संस्कार ये दोनों होते विकशित शिक्षा से,आचार-विचार...
डॉ. राहुल मिश्र Dr. Rahul Misra
565
बुंदेलखंड से सूरीनाम तक की यात्रा-कथा(एक गिरमिटिया की गौरवगाथा)अगर यह पता चले, कि रामलीला देखने का शौक भी किसी के लिए मुसीबत का सबब बन सकता है, और रामलीला देखने के लिए जाना ही किसी व्यक्ति के जीवन में ऐसी ‘रामलीला’ का रूप ले सकता है, कि चौदह वर्षों के बजाय जीवन-भर...
डॉ. राहुल मिश्र Dr. Rahul Misra
565
फूलबाग नौचौक में बैठे राजा राम...मधुकरशाह महाराज की रानी कुँवरि गणेश ।अवधपुरी से ओरछा लाई अवध नरेश ।।सात धार सरजू बहै नगर ओरछा धाम ।फूल बाग नौचौक में बैठे राजा राम ।।तुंगारैन प्रसिद्ध है नीर भरे भरपूर ।वेत्रवती गंगा बहै पातक हरै जरूर ।।राजा अवध नरेश को सिंहासन दरबा...
अनंत विजय
54
हाल ही में एक सेमिनार में जाने का अवसर मिला जहां समाजशास्त्रियों को सुना। इस सेमिनार में संस्थाओं के बनाने और उसको सुचारू रूप से चलाने पर बात हो रही थी। सभी वक्ता अपनी-अपनी बात तर्कों के साथ रख रहे थे, ज्यादातर वक्ता नई संस्थाओं को बनाने के लिए तर्क दे रहे थे, कुछ...
mahendra verma
279
छत्तीसगढ़ के किसानों के लिए इस मौसम में ‘ओल’ महत्वपूर्ण हो जाता है । रबी फसल के लिए खेत की जुताई-बुआई के पूर्व किसान यह अवश्य देखता है कि खेत में ओल की स्थ्ति क्या है । ओल मूलतः संस्कृत भाषा का शब्द है । विशेष बात यह है कि ओल का जो अर्थ संस्कृत में है ठीक वही अर्थ छ...
सचिन श्रीवास्तव
143
सचिन श्रीवास्तवकुछ मित्रों में संतुलन साधने की जबर्दस्त कला होती है। वे एक ही समय में नदी में तैर भी रहे होते हैं और स्वयं को गीला होने से भी बचा ले जाते हैं। समाज के काले, पीले, पतित चेहरों के साथ गली—गली घूम लेते हैं और क्या मजाल कि कोयले की गली से गुजरते हुए एक...
 पोस्ट लेवल : संस्कृति
सचिन श्रीवास्तव
143
सचिन श्रीवास्तवजब अपराधी बेलगाम हैंऔर सत्ताएं खुद को अक्षुण्य बनाए रखने के लिए रच रही हैं नित नए प्रपंचनायकों ने खुद को शामिल कर लिया दरबारियों मेंकवि, कलमकार, संस्कृतिकर्मी, पत्रकारों की जमात का बड़ा हिस्सा डाल चुका है हथियारखेतों की मिट्टी खो रही है लगातार अपनी त...
 पोस्ट लेवल : संस्कृति साहित्य
सचिन श्रीवास्तव
143
मध्य प्रदेश की साहित्य संस्कृति-1- चंद संस्थाओं और व्यक्तियों के बीच कैसे सिमट गया भोपाल और प्रदेश का साहित्यिक-सांस्कृतिक माहौल- संस्कृति निर्माण की कोशिश के अनुदान से हो रहा खेल अकादमियों का संचालन तो कहीं टीबी जागरुकतासचिन श्रीवास्तवमध्य प्रदेश में साहित्य और सं...
 पोस्ट लेवल : संस्कृति साहित्य
सचिन श्रीवास्तव
143
6 से 22 साल की उम्र के बच्चे जिस तेजी से सोशल मीडिया और तकनीक की गिरफ्त में आ रहे हैं, वह उनके मां-बाप के लिए चिंता का विषय है। हालात यह हैं कि हम खुद जब बच्चे ​थे, तो हमारे घर से बाहर जाने पर परिजन फि​क्र करते थे। आज बच्चे घर में हैं, लेकिन वे सोशल मीडिया और...
 पोस्ट लेवल : संस्कृति समाज
Saransh Sagar
229
कैलाश मंदिर दुनिया भर में एक ही पत्थर की शिला से बनी हुई सबसे बड़ी मूर्ति के लिए प्रसिद्ध है। इस मंदिर को तैयार करने में क़रीब 150 वर्ष लगे और लगभग 7000 मज़दूरों ने लगातार इस पर काम किया। पच्‍चीकारी की दृष्टि से कैलाश मन्दिर अद्भुत है। मंदिर एलोरा की गुफ़ा संख्या 1...