ब्लॉगसेतु

अमितेश कुमार
0
मानवेंद्र त्रिपाठी राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के स्नातक हैं और इन दिनों मुंबई में रहकर सिनेमा, टेलीविजन और रंगकर्म में सक्रिय हैं. प्रवीण कुमार गुंजन निर्देशित 'समझौता' में अपने अभिनय से मानवेन्द्र ने रंग जगत में अपनी धाक जमाई थी. वरिष्ठ साहित्यकार हृषिकेश...
सुशील बाकलीवाल
0
          यदि आपकी उम्र +55 हो चुकी है तो ये समझना आपके ही लिये सबसे अधिक आवश्यक है कि आपकी आगे की जिन्दगी शांत और आनंददायक तरीके से कैसे बीते-          अपने वर्किंग जीवन म...
विजय राजबली माथुर
0
इस समझौते का मुख्य उद्देश्य इलाके में शान्ति स्थापित करना था लेकिन १९७१ की लड़ाई से उपजे मामलों को हल करने के अलावा इस से कुछ ख़ास हासिल नहीं किया जा सका . भुट्टो को भी फौज़ ने सत्ता से हटा दिया और इंदिरा गाँधी ने इमरजेंसी लगा कर देश की जनता के सामने अपना सब कुछ गं...
मनोज कुमार  भारती
0
लाल बहादुर शास्त्री का जन्म 2 अक्तूबर,1904 को मुगलसराय में हुआ था। उनके पिता श्री शारदा प्रसाद श्रीवास्तव आदर्श अध्यापक थे। वे सहृदयी और उदार विचारों के थे। जिनका प्रभाव लाल बहादुर शास्त्री पर बहुत गहरे पड़ा। यद्यपि उन्हें उनका साथ लंबे समय तक नहीं मिला। जब वे 12 वर...
रणधीर सुमन
0
भारत को खतरा चीन से है या पकिस्तान से है या दोनों से है या किसी से नही है. यह बात अभी तक तय नहीं हो पायी है लेकिन हमारे देश के प्रधानमंत्री अमेरिकी लड्डू खाने के लिए बेताब हैं जिसे पाकिस्तानी सरकारें बहुत पहले से खा रही हैं. लड्डू खाने का परिणाम पाकिस्तान को देखने...
Kajal Kumar
0
Lokendra Singh
0
 व र्षों से उग्रवाद के कारण हिंसा से परेशान नगालैण्ड और वहां के रहवासियों के लिए संभवत: अच्छे दिन आ गए हैं। केन्द्र सरकार ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उपस्थिति में नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नगालिम-आईएम (एनएससीएन-आईएम) के साथ शांति समझौता कर लिया है। नगा गु...
महेन्द्र श्रीवास्तव
0
मुझे तो याद है, पता नहीं आपको याद है या नहीं। महीने भर पहले छत्तीसगढ़ में कांग्रेस परिवर्तन यात्रा निकाल रही थी, इस यात्रा पर नक्सलियों ने हमला कर दिया, जिसमें कुछ सुरक्षा जवानों के साथ कुल 28 लोगों की मौत हो गई। इस हमले में कांग्रेस के कई नेता भी मारे गए। बीजेपी क...
अमितेश कुमार
0
 भारंगम, चौथा दिन. एल.टी.जी. सभागार के बाहर लंबी लाईन लगी हुई है. दर्शक एक युवा रंगकर्मी का नाटक देखने के लिये कतारबद्ध है. बगल में कमानी में चीनी नाटक है लेकिन उसके ग्लैमर से ये लोग अछूते हैं आखिर नाटक हिन्दी का है. नाटक है गजानन माधव मुक्तिबोध के ‘समझौता’ पर...
हर्षवर्धन त्रिपाठी
0
आज शाम तक समाजवादी पार्टी की ओर अमर सिंह परमाणु समझौते पर यूपीए सरकार को समर्थन का ऐलान कर सकते हैं। ये अलग बात है कि इस सपा में ही दो फाड़ होने की नौबत आ गई है। सपा सांसद कह रहे हैं कि उनके साथ 10 सांसद हैं। लेकिन, लगता यही है कि ये ड्रामा हो सकता है जिससे मुनव्वर...