ब्लॉगसेतु

sanjiv verma salil
7
कृति चर्चा : गीत स्पर्श : दर्द के दरिया में नहाये गीत चर्चाकार - आचार्य संजीव वर्मा ‘सलिल’*[कृति विवरण: गीत स्पर्श, गीत संकलन, डॉ. पूर्णिमा निगम ‘पूनम’, प्रथम संस्करण २००७, आकार २१.से.मी.  x १३.से.मी., आवरण बहुरंगी पेपरबैक, पृष्ठ १२२, मूल्य १५० रु.,...
sanjiv verma salil
7
पुस्तक चर्चा - पल-पल प्रीत पली - महकी काव्य कलीचर्चाकार - आचार्य संजीव वर्मा ‘सलिल’*[पुस्तक विवरण - पल-पल प्रीत पली, काव्य संकलन, मधु प्रमोद, प्रथम संस्करण, २०१८, आईएसबीएन ९७८-८१-९३५५०१-३-७, आकार डिमाई, आवरण सजिल्द बहुरंगी, जैकेट सहित, पृष्ठ ११२, मूल्य २००रु.,...
 पोस्ट लेवल : मधु प्रमोद समीक्षा
shashi purwar
114
अर्थ घनत्व की दृष्टि से महत्वपूर्ण हैं "जोगिनी गंध" के हाइकु - डॉ. शैलेष गुप्त 'वीर'वर्तमान युग परिवर्तन का युग है और परिवर्तन की यह प्रक्रिया जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में है। साहित्य भी इससे अछूता नहीं है। मुझे यह कहने में कोई हिचक नहीं है कि बदलते परिवेश में...
रविशंकर श्रीवास्तव
4
..............................
 पोस्ट लेवल : समीक्षा
sanjiv verma salil
7
कृति चर्चा:'पहने हुए धूप के चेहरे' नवगीत को कैद करते वैचारिक घेरेआचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'*[कृति विवरण: पहने हुए धूप के चेहरे, नवगीत संग्रह, मधुकर अष्ठाना, प्रथम संस्करण २०१८, आई.एस.बी.एन. ९८७९३८०७५३४२३, प्रथम संस्करण २०१८, पृष्ठ १६०, मूल्य ३००/-, आवरण सजीओल्ड बहुर...
रविशंकर श्रीवास्तव
4
..............................
 पोस्ट लेवल : समीक्षा
sanjiv verma salil
7
कृति चर्चा :''नवता'' लीक से हटकर भाव सविता आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'*[कृति विवरण: नवता, नवगीत संग्रह, देवकीनंदन 'शांत', प्रथम संस्करण, २०१९, आकार २१ से.मी. x  १४ से.मी., आवरण बहुरंगी पेपरबैक, पृष्ठ ५८, मूल्य १५०/-, रचनाकार संपर्क - शान्तं, १०/३०/२ इंदिरा...
 पोस्ट लेवल : समीक्षा नवता
sanjiv verma salil
7
कृति चर्चा -'अपने शब्द गढ़ो' तब जीवन ग्रन्थ पढ़ो आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'*[कृति विवरण - अपने शब्द गढ़ो, गीत-नवगीत संग्रह, डॉ. अशोक अज्ञानी, प्रथम संस्करण २०१९, आईएसबीएन ९७८-८१-९२२९४४-०-७, आकार २१ से.मी. x १४ से.मी., आवरण पेपरबैक बहुरंगी, पृष्ठ १३८, मूल्य १५०/-,...
sanjiv verma salil
7
कृति चर्चा :'चुप्पियों को तोड़ते हैं' नव आशाएँ जोड़ते नवगीत चर्चाकार : आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'[कृति परिचय - चुप्पियों को तोड़ते हैं, नवगीत संग्रह, योगेंद्र प्रताप मौर्य, प्रथम संस्करण २०१९, ISBN ९७८-९३-८९१७७-८७-९, आवरण पेपरबैक, बहुरंगी, २०.५ से. मी .x १४से...
sanjiv verma salil
7
कृति चर्चा :"गाँव देखता टुकुर-टुकुर" शहर कर रहा मौज आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'*[कृति विवरण - गाँव देखता टुकुर-टुकुर, नवगीत संग्रह, नवगीतकार - प्रदीप कुमार शुक्ल, प्रथम संस्करण, वर्ष २०१८, आवरण - बहुरंगी, पेपरबैक, आकार - २१ से. x १४ से., पृष्ठ १०७, मूल्य ११०/-, प्रक...