ब्लॉगसेतु

रविशंकर श्रीवास्तव
5
..............................
 पोस्ट लेवल : समीक्षा
shashi purwar
116
हिंदी साहित्य के वरिष्ठ साहित्यकार राजकुमार जैन राजन से मेरा व्यक्तिगत परिचय नही हैं.   उनकी किताब पेड लगाअो से उन्हें जानने का मौका मिला. उनकी बाल रचनाअों व उनके काव्य की अभिव्यक्ति ने एक ही बार मे किताब पढने के लिए आग्रहित किया. अपनी बात कहने में कवि सक्षम ह...
 पोस्ट लेवल : पुस्तक समीक्षा
रविशंकर श्रीवास्तव
5
..............................
 पोस्ट लेवल : समीक्षा
वंदना अवस्थी दुबे
362
”उत्सवी रंग में रंगा लंदन, इन दिनों पूरी तरह से एशियाई त्यौहारमयी हो जाता है. अपनी-अपनी पहचान और संस्कृति को बचाए रखने के पक्षधर लंदनवासी भारतीयों की श्रद्धा चरम पर नज़र आती है. रस्मो-रिवाज़ को पर्म्परागत तरीक़े से निभाने की इच्छा सर्वोपरि दिखाई देती है. परन्तु, इस सब...
sanjiv verma salil
6
समीक्षा- आचार्य संजीव वर्मा ‘सलिल’ के गीत- नवगीत संग्रह ‘काल है संक्रांति का’तथा‘सड़क पर’ -ं डाॅ. रमेश चंद्र खरे, दमोह*व्यक्ति की दबी प्रकृति और रुचि प्राप्त आजीविका में भी अंततःअपना मार्ग खोज ही लेती है। सिविल इंजीनियर संजीव वर्मा भी ‘लोकनिर्माण’ के व्यस्त जीवन मे...
sanjiv verma salil
6
कृति चर्चा: ''पाखी खोले पंख'' : गुंजित दोहा शंख [कृति विवरण: पाखी खोले शंख, दोहा संकलन, श्रीधर प्रसाद द्विवेदी, प्रथम संस्करण, २०१७, आकार २२ से.मी. x १४ से.मी., पृष्ठ १०४, मूल्य ३००/-, आवरण सजिल्द बहुरंगी जैकेट सहित, प्रगतिशील प्रकाशन दिल्ली, दोहाकार संपर...
उन्मुक्त हिन्दी
105
इस चिट्ठी में, योको ओगावा की लिखी पुस्तक 'द हाउसकीपर एण्ड द प्रोफेसर' की समीक्षा है।  यह पुस्तक मूल रूप से जापानी भाषा में लिखी गयी है और उसका अंग्रेजी में अनुवाद किया गया है।कुछ सालों पहले, मैंने एयोस्टोलोस डॉक्सिएडिस द्वारा लिखित उपन्यास, 'अंकल पेट्रोस एण्ड...
 पोस्ट लेवल : गणित पुस्तक समीक्षा
shashi purwar
116
"धूप लिखेंगे छाँव लिखेंगे " आ. रविन्द्र उपाध्याय जी के गीत - गजलों का  संग्रह है, प्रथम  खंड में  गीत  व द्वितीय  खंड में गजलों का अतिविशिष्ट  संकलन है।  प्रथम गीत  खंड म...
 पोस्ट लेवल : पुस्तक समीक्षा
रविशंकर श्रीवास्तव
5
..............................
 पोस्ट लेवल : समीक्षा
sanjiv verma salil
6
समीक्षा ;सुधियों की देहरी पर - दोहों की अँजुरी समीक्षाकार आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'*[कृति विवरण: सुधियों की देहरी पर, दोहा संग्रह, तारकेश्वरी तरु 'सुधि', प्रथम संस्करण २०१९, आई.एस.बी.एन. ९७८९३८८४७१४८०, आकार २१.५ से.मी. x १४ से.मी., आवरण सजिल्द बहुरंगी, जै...