ब्लॉगसेतु

रविशंकर श्रीवास्तव
4
..............................
 पोस्ट लेवल : समीक्षा
sanjiv verma salil
6
कृति चर्चा :''नवता'' लीक से हटकर भाव सविता आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'*[कृति विवरण: नवता, नवगीत संग्रह, देवकीनंदन 'शांत', प्रथम संस्करण, २०१९, आकार २१ से.मी. x  १४ से.मी., आवरण बहुरंगी पेपरबैक, पृष्ठ ५८, मूल्य १५०/-, रचनाकार संपर्क - शान्तं, १०/३०/२ इंदिरा...
 पोस्ट लेवल : समीक्षा नवता
sanjiv verma salil
6
कृति चर्चा -'अपने शब्द गढ़ो' तब जीवन ग्रन्थ पढ़ो आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'*[कृति विवरण - अपने शब्द गढ़ो, गीत-नवगीत संग्रह, डॉ. अशोक अज्ञानी, प्रथम संस्करण २०१९, आईएसबीएन ९७८-८१-९२२९४४-०-७, आकार २१ से.मी. x १४ से.मी., आवरण पेपरबैक बहुरंगी, पृष्ठ १३८, मूल्य १५०/-,...
sanjiv verma salil
6
कृति चर्चा :'चुप्पियों को तोड़ते हैं' नव आशाएँ जोड़ते नवगीत चर्चाकार : आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'[कृति परिचय - चुप्पियों को तोड़ते हैं, नवगीत संग्रह, योगेंद्र प्रताप मौर्य, प्रथम संस्करण २०१९, ISBN ९७८-९३-८९१७७-८७-९, आवरण पेपरबैक, बहुरंगी, २०.५ से. मी .x १४से...
sanjiv verma salil
6
कृति चर्चा :"गाँव देखता टुकुर-टुकुर" शहर कर रहा मौज आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'*[कृति विवरण - गाँव देखता टुकुर-टुकुर, नवगीत संग्रह, नवगीतकार - प्रदीप कुमार शुक्ल, प्रथम संस्करण, वर्ष २०१८, आवरण - बहुरंगी, पेपरबैक, आकार - २१ से. x १४ से., पृष्ठ १०७, मूल्य ११०/-, प्रक...
shashi purwar
116
Lokendra Singh
101
वैसे तो 'राष्ट्रवाद' सदैव ही जनसाधारण की चर्चाओं से लेकर अकादमिक विमर्श के केंद्र में रहता है। किंतु, वर्तमान समय में राष्ट्रवाद की चर्चा जोरों पर है। राष्ट्रवाद का जिक्र बार-बार आ रहा है। राष्ट्रवाद को 'उपसर्ग' की तरह भी प्रयोग में लिया जा रहा है, यथा- राष्ट्रवादी...
रविशंकर श्रीवास्तव
4
..............................
 पोस्ट लेवल : समीक्षा
sanjiv verma salil
6
बुधिया लेता टोह : चीख लगे विद्रोहस्वातंत्र्योत्तर भारतीय साहित्य छायावादी रूमानियत (पंत, प्रसाद, महादेवी, बच्चन), राष्ट्रवादी शौर्य (मैथिली शरण गुप्त, माखन लाल चतुर्वेदी, दिनकर, सोहनलाल द्विवेदी) और प्रगतिवादी यथार्थ (निराला, नागार्जुन, त्रिलोचन, मुक्तिबोध) के संगु...
 पोस्ट लेवल : ५ समीक्षाएं लखनऊ
sanjiv verma salil
6
कृति चर्चा 'पोखर ठोंके दावा' : जल उफने ज्यों लावा चर्चाकार : आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'*[कृति विवरण : पोखर ठोंके दावा, नवगीत संग्रह, अविनाश ब्योहार, प्रथम संस्करण २०१९, आकार  २० से. x १३ से., आवरण बहुरंगी पेपरबैक, पृष्ठ १२०, प्रकाशन काव्य प्...