ब्लॉगसेतु

Bharat Tiwari
20

साहित्य एक समोसा — सुधीश पचौरीमैं देख रहा था कि साहित्य का अंत हो रहा है और उसका चिर सखा समोसा कोने में पड़ा रो रहा है।मुझे पता था कि एक दिन ऐसा आएगा कि मंडी हाउस के गोल चक्कर के बीच खडे़ होकर साहित्य बिसूरता हुआ मिलेगा। किशोर कुमार का पुराना गीत गाता हुआ —&nbs...
Bharat Tiwari
20
भूगर्भीय जलभंडार तेज़ी से छीज रहा है— मृणाल पाण्डेजहाँ पहले 50 फुट पर पानी मिल जाता था, पानी निकालने को 700 से हज़ार फीट तक बोरिंग ज़रूरी है। इस देश का सबसे पुराना और सबसे गहरा रागात्मक रिश्ता अगर किसी से रहा है, तो अपने जलस्रोतों से। अपनी नदियों को इस कृषि प...
Bharat Tiwari
20
गोरक्षकों के नाम पर भस्मासुर पैदा करना चाहते हैं~ विभूति नारायण रायCartoon by Keshav courtesy The Hinduक्या हम भी उस रपटीली राह पर चल पड़े हैं, जिस पर अस्सी और नब्बे के दशकों में चलकर पाकिस्तानी समाज बर्बाद हुआ था।  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push...
S.M. MAsoom
34
दो दिन पहले  अपनी टिपण्णी  में  लिखा था वतन से दूर वतन की याद बहुत आती है |  इस सच को वही जान सकते हैं जो अपने वतन से दूर हैं | हम आखिर अपने वतन से दूर जाते ही क्यूँ हैं ? इस सवाल के पूछते ही सबसे पहले जो जवाब आता है वो है " रोज़गार "|जी हाँ अपने...
 पोस्ट लेवल : समपादकीय सम्पादकीय
Bharat Tiwari
20
कश्मीरी पंडितों से लेकर उत्तराखंड, असम, बंगाल (वैष्णव समुदाय छोड़ कर), मिथिला क्षेत्र तथा उ.पू. राज्यों में माँस और मछली ब्राह्मणों का खानपान तथा प्रसाद माना जाता हैPhoto: Gadhimai Mela Festival, Nepal (http://www.businessinsider.in) (adsbygoogle = window.a...
Bharat Tiwari
20
साहित्यकारों में फैले अजनबीपन, अकेलेपन, आत्म-निर्वासन, अवसाद, आत्म-संघर्ष, वर्ग-संघर्ष, चिड़चिड़ेपन और गाली-गलौज आदि सब व्याधियों से मुक्ति दिलाने वाला बस एक ही मंत्र है (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); तू मुझे बुला, मैं तुझे बलाऊंतू...
Bharat Tiwari
20

दी और दा हिंदी में एक ऐसा ‘लिटररी स्फीयर’ बनाते हैं कि उसकी फॉर्म कुछ होती है, और कंटेंट कुछ और होता है
Bharat Tiwari
20
साहित्य विरोध कुलभूषण— सुधीश पचौरी  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); जिस साहित्यकार का कोई नाम लेवा, पानी देवा नहीं होता, ये हमलावर उसे इतना बड़ा बनवा देते हैं कि स्वयं हमलायित चाहने लगता है कि अगली बार भी ऐसा ही हो और वह और भी ब...
Bharat Tiwari
20
Maitreyi Pushpaभुगतिए नतीजा कभी वोट देने का और कभी न देने का मैत्रेयी पुष्पा (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); लोकतन्त्र की अवधारणा के मूल में दो महत्वपूर्ण मुद्दे हैं — नागरिकता की स्वायत्तता और नागरिकों के हक़ों की रक्षा। इन द...
Bharat Tiwari
20
पाँच राज्यों के विधान सभा चुनाव नतीजे — मृणाल पाण्डेमोदीजी की उत्तरप्रदेश विजय, बीजेपी का मणिपुर-गोवा पर धावा, देशवासियों की वर्तमान सोच और भूतकाल की पुनरावृत्ति... वो बातें जो मृणाल पाण्डे की राजनीतिक आँखें देख, कान सुन और दिमाग साध पा रहा है, उन्हें बता कर...