हम सबके प्‍यारे सुरेंद्र राजन ने यह चित्र फेसबुक पर साझा किया। उस पर मेरी तात्‍कालिक प्रतिक्रियाललाट पर लपट धारे यह कौन है साधु का बाना है देह नहीं चेहरा कहीं को है दृष्टि कहीं और लगता स्थिर है पर चलाएमान है कल कहीं बैठा...