ब्लॉगसेतु

अनूप शुक्ल
0
रश्मि रविजा का ब्लॉग हैं अपनी उनकी सबकी बात  . बैक 2 बैक दो पोस्ट हैं इतना मुश्किल क्यूँ होता है "ना " कहना लड़कियों की उड़ान किसी इत्तफाक़ का मोहताज़ नहीं....पहली पोस्ट में रश्मि ने "माताओं-पिताओं द्वारा अपने ही बच्चों के पालन-पोषण में विभ...
संतोष त्रिवेदी
0
करीब दस रोज़ पहले सतीश सक्सेना जी  से बात हुई और तय हुआ कि उनके दिल्ली-आवास पर मुलाक़ात हो.इस मुलाक़ात की फौरी वज़ह तो उनकी पहली कृति को हासिल करना था,पर पहली बार मिलने का उल्लास भी था.सतीशजी ने बकायदा समझा दिया ताकि हमें उन तक पहुँचने में कोई दिक्कत पेश न हो....
संजय भास्कर
0
श्रीमती आशा लता सक्सेना जी  आप सभी ब्लॉगर साथियों को मेरा सादर नमस्कार काफी दिनों से व्यस्त होने के कारण ब्लॉगजगत को समय नहीं दे पा रहा हूँ  पर अब आप सभी के समक्ष पुन: उपस्थित हूँ ....!!   अभी कुछ दिनों पहले श्रीमती आशालता सक्सेना जी की पुस्तक अनकहा...
विजय राजबली माथुर
0
Hindustan-Lucknow--08/02/2012Hindustan-Lucknow-28/03/2012Hindustan-Lucknow-28/03/2012 ऊपर जो स्कैन कापियाँ आप देख रहे हैं उन से स्पष्ट होता है कि 'धन' की ललक मे देश की सुरक्षा का भी ख्याल नहीं किया जा रहा है। असंख्य क्रांतिकारियों एवं देश भक्तों के अपना जीवन ब...
विजय राजबली माथुर
0
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )आदरणीय के .पी .सक्सेना साहब लखनऊ के जाने-माने साहित्यकार हैं उन्होने 04 सितंबर 2011  को एक बैठक  मे वेदना प्रकट की कि अब लखनऊ वह पुराना वाला ल...
विजय राजबली माथुर
0
'हिंदुस्तान'के प्रधान संपादक श्री शशि शेखर ने अपने 18 दिसंबर के संपादकीय लेख मे 16 दिसंबर की भारतीय सेना की 40 वर्ष  पूर्व प्राप्त अद्भुत विजय के संबंध मे लिखा है-"अन्ना हज़ारे के इर्द-गिर्द घूम रहे राजनीतिज्ञों को क्या दोष दें?खुद अन्ना भी इस मुद्दे पर मौनी ब...
शरद  कोकास
0
मस्तिष्क के क्रियाकलाप - 8 व्यवहार नियत्रंण : आप अपने दिन भर के क्रियाकलापों को याद करें । आप सुबह जागते हैं नित्यक्रम से निवृत होते हैं ,भोजन करते है ,दफ्तर जाते हैं या अपने काम पर जाते हैं, सहकर्मियों से या परिजनों से सहज वार्तालाप करते हैं । हर जगह आप संयत होक...
अविनाश वाचस्पति
0
आपने भी अगर इस हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग कार्यशाला और सम्‍मेलन की खबर किसी अखबार में पढ़ी है तो nukkadh@gmail.com  पर मेल कर दीजिए। आपका आभार प्रकट करते हुए खबर को ब्‍लॉग पर लगाया जायेगा।दैनिक सांध्‍य टाइम्‍स में दिनांक 25 जनवरी 2011 को  प्रकाशित इस समाचार की सूच...
ललित शर्मा
0
..............................
वंदना अवस्थी दुबे
0
लीक पर वे चलें.....-----------------लीक पर वे चलें जिनकेचरण दुर्बल और हारे हैंहमें तो जो हमारी यात्रा से बने,ऐसे अनिर्मित पन्थ प्यारे हैंसाक्षी हों राह रोके खड़ेपीले बाँस के झुरमुटकि उनमें गा रही है जो हवाउसी से लिपटे हुए सपने हमारे हैंशेष जो भी हैं-वक्ष खोले डोलती...