ब्लॉगसेतु

अनीता सैनी
7
बरसी न बदरिया न मुलाक़ात बहारों से की,  न तितलियों ने ताज पहनाया न  फुहार ख़ुशियों ने की,   मिली न सौग़ात सितारों की, ढलती शाम में वह कोयल-सी गुनगुनायी,    मुद्दतों बाद आज मेरी दहलीज़ मुस्कुरायी, &nb...
Nitu  Thakur
479
जाने क्यों तेरी याद तेरे बाद भी रही हर शाम तेरे नाम तेरे बाद भी रही नाकाम कोशिशें की भुलाने की आप को ये जान तेरे नाम तेरे बाद भी रही कब तक तलाशते हम ख्यालों में आप को चाहत ये बेजुबान तेरे बाद भी रही आँखों में अश्क़ भरकर रूखसत वो हो गए&n...
Nitu  Thakur
479
इंतजार, इजहार, गुलाब, ख्वाब, वफ़ा, नशाउसे पाने की कोशिशें तमाम हुई, आजमाइशें सरेआम हुईअदब, कायदा, रस्में, रवायतें, शराफत, नेकी हर घडी बेजान हुई, रिश्तों की गहराइयां चुटकियों में तमाम हुई इज्जत,ईमान, हया, नजाकत, मासूमियत, पाकीजगी वक़्त के साथ कुर्ब...
Bhavna  Pathak
86
सावन आया सावन आयाकितने ये सौगातें लायाबादल बरखा संग पुरवाईमधुर राग छेड़े  शहनाईबागों में पड़ गए हैं झूलेलगी होड़ सब में नभ छू लेसखियां गाएं गीत मल्हारपपिहा पी पी करे पुकारबुला रहे सावन के मेलेआओ सारे छोड़ झमेले---------  शिवशंकर
ऋता शेखर 'मधु'
65
प्रथम दिवस को पूजते, जिनको हम सोल्लास|पुत्री वह गिरिराज की, भरतीं जीवन आस||चंद्र शिखर को सोहता, वाहन बनता बैल|पुत्री मिली यशस्विनी, धन्य हुए हिमशैल||अधीश्वरी है शक्ति की, ब्रह्मचारिणी रूप|सौम्यानन्दप्रदायिनी, लागें ब्रह्मस्वरूप||&...
आकाश कुमार
747
मेरे गुरु (संजय भास्कर जी ) मैंने जो कुछ भी लिखा पुरे दिल की गहराइयों से उसके लिए संजय भास्कर जी को धन्यवाद देना चाहता हूँ जो समय समय पे मेरा गुरु बनकर मार्ग प्रसस्त करते आ रहे हैं |प्रिय संजय भास्कर जी आपकी बातों में आकर मैंने  अपनी जज्बातों को लिख दिया...
 पोस्ट लेवल : अनकहे दिल की सौगात
पत्रकार रमेश कुमार जैन उर्फ निर्भीक
733
नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ! आप सभी पाठकों / दोस्तों को "शकुन्तला प्रेस ऑफ़ इंडिया प्रकाशन" परिवार की ओर से नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं! आप व आपके परिवार के लिए नववर्ष 2011 मंगलमय हो! इन्हीं शब्दों के साथ ही ..... सुन...
पत्रकार रमेश कुमार जैन उर्फ निर्भीक
560
नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ! आप सभी पाठकों / दोस्तों को "शकुन्तला प्रेस ऑफ़ इंडिया प्रकाशन" परिवार की ओर से नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं! आप व आपके परिवार के लिए नववर्ष 2011 मंगलमय हो! इन्हीं शब्दों के साथ ही ..... सुनह...
पत्रकार रमेश कुमार जैन उर्फ निर्भीक
483
नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ! आप सभी पाठकों / दोस्तों को "शकुन्तला प्रेस ऑफ़ इंडिया प्रकाशन" परिवार की ओर से नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं! आप व आपके परिवार के लिए नववर्ष 2011 मंगलमय हो! इन्हीं शब्दों के साथ ही .....सुनहरे...