ब्लॉगसेतु

VMWTeam Bharat
112
सभी देश वासियों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनायेंआजकल हम लोगों के लिए 15 अगस्त एक छुट्टी मात्र ही तो रह गया है। इस दिन हम स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं और बाकी पूरे साले उस आज़ादी का दुरूपयोग करते हैं। कहीं सुना था कि 68 साल में क्या बदला। कुछ ख़ास...
VMWTeam Bharat
112
आजादी के नए संघर्ष का वक्त हमने आजादी जनता के लिए प्राप्त की थी और नारा दिया था कि हम ऐसी व्यवस्था अपनाएंगे जो जनता की जनता द्वारा और जनता के लिए होगी, लेकिन आजादी के 68 साल बीतने के बाद अनुभव यह हो रहा हे कि हमारी सत्ता अंग्रेजी सत्ता के समान ही कुछ निहित स्वार्थी...
S.M. MAsoom
30
 स्वतंत्रता दिवस जश्न ए आजादी का दिन है और हर त्योहार से ये ख़ुशी अधिक मायने रखती है | मानता हू कि आजादी के बाद हम भारतवासियो ने जो जो सपने देखे थे वो पूरी तरह से साकार नही हो सके लेकिन यह भी क्या कम है कि अब हम गर्व से ये तो कह सकते है कि हम किसी गुलाम देश...
संतोष त्रिवेदी
147
हर साल हमें आज़ादी के दिन की बेसब्री से प्रतीक्षा रहती है।क्या है ना कि आज़ादी शब्द सुनकर ही हमें झुरझुरी होने लगती है।दरअसल,हमारी स्वाभाविक प्रवृत्ति ही आज़ाद और बिंदास रहने की है।हम कतई नहीं चाहते कि हमारे कहने या करने पर किसी प्रकार की कोई बंदिश हो।हम आज़ादी को लेकर...
Sandhya Sharma
225
स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं... जय हिन्द ! ..... विदेशी परतंत्रता से मुक्तआधी शताब्दी के बाद भीसामाजिक, आर्थिकधार्मिक, राजनीतिकपाखंडियों के छल सेनिरंतर छले जा रहेस्वदेशी भ्रष्टाचारियों केनागपाश में जकड़े इस भारत देश को इतने बरसों का हिसाब चाहिएनई चेतना...
Rajendra kumar Singh
345
प्रिये मित्रों, आज हम सबका स्वतंत्रता दिवस है, स्‍वतंत्रता दिवस ऐसा दिन है जब हम अपने महान राष्‍ट्रीय नेताओं और स्‍वतंत्रता सेनानियों को अपनी श्रद्धांजलि देते हैं जिन्‍होंने विदेशी नियंत्रण से भारत को आज़ाद कराने के लिए अनेक बलिदान दिए और अपने जीवन न्‍यौछावर कर दिए...
Sanjay Chourasia
179
68 वें स्वतंत्रता दिवस पर मैं आप सभी साथियों एवं समस्त देशवासियों को " स्वतंत्रता दिवस " की ढेर सारी बधाइयाँ और शुभ-कामनाएं देता हूँ ! आइये हम सब अपने मन में उठने वाले सभी नकारात्मक विचारों से आजाद होकर इस पर्व को परिवार सहित हँसी&nbsp...
kuldeep thakur
98
इसी घर सेएक दिनशहीद का जनाज़ा निकला था,तिरंगे में लिपटा,हज़ारों की भीड़ में।काँधा देने की होड़ मेंसैकड़ो के कुर्ते फटे थे,पुट्ठे छिले थे।भारत माता की जय,इंकलाब ज़िन्दाबाद,अंग्रेजी सरकार मुर्दाबादके नारों में शहीद की माँ का रोदनडूब गया था।उसके आँसुओ की लड़ीफूल, खील,...
Kavita Rawat
192
यह सभी जानते हैं कि 15 अगस्त 1947 को हमारा देश स्वतंत्र हुआ। यह हमारे राष्ट्रीय जीवन में हर्ष और उल्लास का दिन तो है ही इसके साथ ही स्वतंत्रता की खातिर अपने प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों का पुण्य दिवस भी है। देश की स्वतंत्रता के लिए 1857 से लेकर 1947 तक क्रांतिका...
प्रातिक माहेश्वरी
415
यह गीत एक प्रतियोगिता के लिए लिखा और संगीतबद्ध किया था. इस स्वतंत्रता दिवस पर सबको उम्मीद है एक बदलाव की और वो बदलाव की शुरुआत खुद से होगी.सब ओर है भ्रष्टाचार की बातदेश को जकड़े जिसके दांतआओ अब सब कहेंमुझसे होगी शुरुआत!लूटा है नेताओं ने देश तो क्या?बदला है सच्चाई न...