ब्लॉगसेतु

sangeeta swarup
364
माँ का आँचल  आज भी लहराता  सुखद यादें । ****************** मीठी निबौरी  माँ  की  फटकार  गुणी औषध । ************** माँ का लगाया  काजल का दिठौना याद है मुझे  ***************** राह तकते करती  इंतज...
 पोस्ट लेवल : माँ / हाइकु
sangeeta swarup
364
  रिश्ते हैं यहाँ  अपेक्षाओं से भरे  दम तोड़ते *************   भावुक मन  संवेदना से भरा  बरस गया । ****************   रेत ही रेत  पलकों  में समाई  खुश्क हैं आँखें  ...................
 पोस्ट लेवल : हाइकु / रिश्ते / मन
sangeeta swarup
189
बच्चे का रोना खुशियों का खजाना मुबारक हो *********************उनीदीं आँखे किलकारी उसकी सुकूं देती है .*****************चलना सीखा हाथ थाम के  मेरा कदम बढे .**********बड़ा हो गया समझ बढ़ गयी हम नादान .*********इस उम्र...
Krishna Kumar Yadav
430
हाइकु हिंदी-साहित्य में तेजी से अपने पंख फ़ैलाने लगा है. कम शब्दों (5-7-5)में मारक बात. भारत में प्रो० सत्यभूषण वर्मा का नाम हाइकु के अग्रज के रूप में लिया जाता है. यही कारण है कि उनका जन्मदिन हाइकु-दिवस के रूप में मनाया जाता है. आज 4 दिसम्बर को उनका जन्म-दिवस है, अ...
kumarendra singh sengar
19
आई0 पी0 एल0 के गोरखधंधे का परिणाम क्या होगा ये तो सिर्फ जाँच करने वालों को ही मालूम होगा। सत्यता कुछ भी हो किन्तु यह तो सत्य ही है कि सिवाय हटने-हटाने के कुछ और नहीं होगा।देश के अंधे दीवाने दर्शकों के लिए यही सबक होना चाहिए किन्तु जिस निर्लज्जता से दर्शकों ने फाइन...
 पोस्ट लेवल : हाइकु क्रिकेट