ब्लॉगसेतु

अनीता सैनी
100
दर्द ३९००शहीद जाँबाज़ जवानों कासीने में उभर आयासंजीदा साये सिहर उठे होंगे उनके भी मौजूदा हालात देख देश केशिथिल शब्दों में हुई होगी गहमागहमी उनके भीआपस में वे भी बोल उठे होंगेक्यों किया तकल्लुफ़ चीख़ते सन्नाटे नेक्यों सुनाया संदेश सर्द हवाओं नेयही एहसासात&nbs...
Manoj Kumar
284
..............................
 पोस्ट लेवल : labor day हालात मेरे देश के
मधुलिका पटेल
547
कई दिनों से खामखा की ज़िद वह श्रृंगार अधूरा सा क्यों है अब क्या और किस बात की जिरह मेरे पास नहीं है वो ज़ेवर जो तुम्हे वर्षों पहले चाहिए थेवह सब मैंने ज़मीं में दफ़न कर दिया है हालात बदल गए हैं तुम उस ख़ज़ाने को ढूंढना चाहते हो और चाहते...
Manoj Kumar
284
..............................
 पोस्ट लेवल : हालात मेरे देश के
Manoj Kumar
284
..............................
 पोस्ट लेवल : हालात मेरे देश के
Manoj Kumar
284
..............................
Manoj Kumar
284
..............................
 पोस्ट लेवल : हालात मेरे देश के
Manoj Kumar
284
..............................
 पोस्ट लेवल : हालात मेरे देश के
Manoj Kumar
284
..............................
 पोस्ट लेवल : हालात मेरे देश के
मधुलिका पटेल
547
हालातों ने उसकी खुशी कोकही दफ़ना दियाउससे छीन कर उसकी मुस्कुराहट कोकहीं छिपा दियाचाहती थी वो सूरज की किरनों से पहलेदौड़ कर धरा को छू लूगुन-गुनी धूप सी गरमाइशहाथों में हुआ करती थीजाड़े में गुलमोहर के नीचेइंतज़ार खत्म होता थाऔर सर्द हवाओं मेंकाँपते उसके हाथ होते...