ब्लॉगसेतु

rashmi prabha
20
                                                             (गूगल से साभार)जिस दिन तुम्हारे हिस्से वक़्त ही वक़...
समीर लाल
79
कुत्ता मूते तभी कुकुरमुत्ते पैदा हों, वो जमाना गुजरे भी जमाना गुजरा। अंग्रेजी का अपना बोलबाला है। उसका विश्व स्वीकार्य अपना वर्चस्व है। अंग्रेजी स्कूल मे पढ़ने वाला बच्चा तक इस बात को जानता है और हिन्दी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे को हेय दृष्टि से देखता है। हमने...
rashmi prabha
20
मैं माँ,समय की तपती रेत नेमुझमें पिता के अग्निकण डालेमातृत्व की कोमलता के आगेमैं हुई नारियलबच्चे की कटी उंगलियों को सहलायाभयभीत चेहरे कोसीने की ताप से सहलायाऔर लक्ष्य की ओर बढ़ने को कहा(बिल्कुल अपने पिता की तरह)क्योंकि दुनिया चर्चा करती हैसूरज के उगने और चढ़ने कीसाथ...
समीर लाल
79
हाल ही में लवली सिंग को यह ज्ञान प्राप्त हुआ कि हम असफल होने के लिए योजना नहीं बनाते बल्कि असफल होते ही इसलिए हैं कि हमने कोई योजना ही नहीं बनाई। आधी से ज्यादा जिन्दगी इसी ज्ञान के आभाव में असफलताओं से गलबहियाँ करते बीत चुकी हैँ। खैर कोई बात नहीं देर आए मगर दुरुस्त...
समीर लाल
79
इधर १५० किमी दूर एक मित्र के घर जाने के लिए ड्राईव कर रहा था. पत्नी किसी वजह से साथ न थी तो जीपीएस चालू कर लिया था. वरना तो अगर पत्नी साथ होती तो वो ही फोन पर जीपीएस देखकर बताती चलती है और जीपीएस म्यूट पर रहता है. कारण यह है कि जीपीएस में यह सुविधा नहीं होती है न क...
rashmi prabha
20
एक तरफ हैं हालातों के घुड़सवार,जिरहबख्तर पहने औरहाथों में है लपलपाती तलवारतो दूसरी तरफ,मजबूरियों की पैदल लंबी कतार,इन्द्र छद्म वेश में फिर आकरले गए छल सेकवच कुंडल का देवदत्त उपहारअस्त्र_शस्त्र के नाम पर हैसिर्फ हौसलों की छोटी_सी कटारइधर बख्तियार, उधर लाचारसनातन है...
समीर लाल
79
जिन्दगी की गाड़ी एक ऐसी गाड़ी है जिसमें रिवर्स करने की सुविधा नहीं होती। वो सिर्फ चलती चली जाती है। वो जब रुकती है तो वह आपकी जिन्दगी का अंतिम पड़ाव होता है। लोगों से कई बार इस महामारी के दौर मे सुनने में आया कि जिन्दगी की गाड़ी एकदम से रुक गई है। दरअसल गाड़ी चल रही है...
संगीता पुरी
111
 What is metro cityMetro city population in india भारतवर्ष में 21 वीं सदी के आरंभिक वर्षों के विकास को मेट्रो सिटीज के विकास के लिए जाना जायेगा, जो बढ़ती जनसँख्या का केंद्र बने। इन महानगरों में जहाँ बड़े-बड़े व्यवसायियों, भूमि-मालिकों और मकान-मालिकों के लिए...
संगीता पुरी
111
Year wise astrology prediction पृथ्‍वी को केन्‍द्र में मानकर पूरे आसमान के 360 डिग्री को जब 12 भागों में विभक्त किया जाता है , तो उससे 30-30 डिग्री की एक राशी निकलती है। इन्हीं राशियों को मेष , वृष , मिथुन ............... मीन कहा जाता है। किसी भी जन्मकुंडली मे...
संगीता पुरी
111
kundli match making in hindiआए दिन हमारी भेंट ऐसे अभिभावकों से होती है, जो अपने बेटे या बेटी के विवाह न हो पाने से बहुत परेशान हैं। उनकी विवाह योग्य संतानें पढ़ी-लिखी है ,पर पॉच-सात वर्ष से उपयुक्त वर या वधू की तलाश कर रहें हैं ,कहीं भी सफलता हाथ नहीं आ रही है। इसक...