ब्लॉगसेतु

अनीता सैनी
41
जनाब कह रहे हैं  ख़ाकी और काला-कोट पगला गये हैं  और तो और सड़क पर आ गये हैं   धाक जमा रहे थे हम इन पर सफ़ेद पोशाक  पहन पितृ देव का रुतबा दिखा भविष्यवाणी कर रहे थे शब्दों का प्रभाव क्या होता है ख़ाकी और का...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
70
उस दिन वह शाम काले साये में लिपटती हुई रौशनी से छिटकती हुई तमस का लबादा लपेटे जम्हाइयाँ लेती नज़र आयी थी तभी गुलशन से अपने बसेरे को लौटती नवयुवा तितलीउत्साही दुस्साहस की सैर  की राह पर चल पड़ीराह भटकी तो भूखे वीरान खे...
Sanjay  Grover
391
नास्तिकता पर बात करते हुए हिंदू-मुस्लिम की बात क्यों आ जाती है? और यह एकतरफ़ा नहीं है, कथित मुस्लिम कट्टरता पर कोई कुछ कहे तो कुछ लोग संघी घोषित करने लगते हैं, कथित हिंदू रीति-रिवाजों पर कहे तो कुछ दूसरे आरोप और आक्षेप लगने लगते हैं। दूसरों के बारे में दूसरे बत...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
70
आओ!मनगढ़ंत, मनपसन्द, मन-मुआफ़िक, मन-मर्ज़ी का इतिहास पढ़ें, अज्ञानता का विराट मनभावन आनंदलोक गढ़ें। आओ! बदल डालें सब इमारतों,गलियों,शहरों, सड़कों, संस्थानों के नाम, लिख दें बस अपने-अपनों के नाम। आओ! बदल डालें कु...
Sanjay  Grover
391
मंदिर में बच्ची से बलात्कार की ख़बर क्या कुछ लोगों को चौंका सकती है ? क्या उन लोगों को भी जो कहते हैं ‘भगवान की मरज़ी के बिना पत्ता भी नहीं हिलता’! क्या उन लोगों को भी जो कहते हैं ‘बच्चे ईश्वर का रुप होते हैं’ ! लेकिन वही लोग यह भी कहते है कि ‘कण-कण में भगवान है’, ‘...
अजय  कुमार झा
461
.....मित्र राजेश सरोहा की एक रिपोर्ट नवभारत टाईम्स दिल्ल्ली हाल ही  में खबरनवीस मित्र राजेश सरोहा ने नवभारत टाईम्स दिल्ली संस्करण में ये खबर प्रमुखता से प्रकाशित की | आंकड़े बता रहे हैं कि ट्रैफिक , लगातार होती सड़क दुर्घटनाओं और इनमें हो रहे इजाफे के बावजू...
अजय  कुमार झा
397
स्याही  प्रकरण से  उठते सवाल आपको रोटी सिनेमा का यह गाना याद है , इसमें  सिनेमा में मक्कार साहूकार का किरदार निभाने वाली जीवंत कलाकार जीवन  की बेटी को सब चरित्रहीन  कहकर उस पर पत्थर बरसाने लगते हैं उसी समय उस सिनेमा के नायक राजेश खन्ना आकर...
Kailash Sharma
772
जब दामिनी के साथ घटे वीभत्स कृत्य पर सारा देश आक्रोश से उबला तो एक आशा जगी थी कि देश में स्त्रियों के प्रति हो रहे अपराधों के प्रति व्यवस्था और जनता जागरूक होगी और इन अपराधों में कमी आयेगी. लेकिन क़ानून में बदलाव और सुधार के बाद भी आज भी प्रतिदिन इन घटनाओं में कोई क...
विजय राजबली माथुर
127
जन-हितैषी एवं देशभक्त सांसदों से आग्रह है कि वे जन-विरोधी तथा देशद्रोही 'आधार कार्ड' योजना को रद्द कराकर साधारण जनता के हितों की रक्षा करें :http://www.chauthiduniya.com/2011/08/uid-this-card-is-dangerous.html digg Shar   चौथी दुनिया में प...
विजय राजबली माथुर
127
http://www.chauthiduniya.com/2011/08/uid-this-card-is-dangerous.html digg Shar 16 अप्रैल 2013 को गांधीवादी विचारक महोदय ने 'आधार कार्ड' की कमजोर 'नींव'का विस्तृत वर्णन दिया था और 28 अप्रैल को वित्तमंत्री ने अनुदार प्रधानमंत्री के इशारे पर आदेश...