ब्लॉगसेतु

ANITA LAGURI (ANU)
53
जीवन में चढ़ते-घटते प्रपंच का बवालआज तड़के दर्शन हो गएफिर से एक बवाल के चीख़ती नज़र  आईरमा बहू सास के तीखे प्रहार से।कर अनसुनी क़दम ढोकरबढ़  गया मैं सू गली का चौराहा           &nb...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
306
 सीवर / गटर में मौतसरकारी अस्पताल में मौतसीमा पर मौतसड़क पर मौतखेत -खलिहान में मौतजंगलों /अरण्यों में मौत।शहरों में मौतगावों में मौतअफ़वाहों में मौतदंगों में मौतबच्चों की मौतबुज़ुर्गों की मौतअजन्मों की मौतजवानों की मौतमरीज़ों की मौतपर्यटकों की मौतराहगीरों की मौतने...
Sanjay  Grover
302
व्यंग्यमहापुरुषों को मैं बचपन से ही जानने लगा था। 26 जनवरी, 15 अगस्त और अन्य ऐसेे त्यौहारों पर स्कूलों में जो मुख्य या विशेष अतिथि आते थे, हमें उन्हींको महापुरुष वगैरह मानना होता था। मुश्क़िल यह थी कि स्कूल भी घर के आसपास होते थे और मुख्य अतिथि भी हमारे आसपास के लोग...
विजय राजबली माथुर
126
JNews FeedM.s. RanaJanuary 10 at 1:25amरामप्रसाद बिस्मिल ने अपनी शहादत से पहले जनता के नाम यह वसीयत की थी कि “यदि देशवासियों को हमारे मरने का ज़रा भी अफसोस है तो वे जैसे भी हो हिन्दू-मुस्लिम एकता क़ायम करें। यही हमारी आखिरी इच्छा थी, यही हमारी यादगार हो सकती है।”......