ब्लॉगसेतु

Yashoda Agrawal
7
सांध्य मुखरित मौन में आप सभी कासादर अभिवादन-----------15 अक्टूबर 1931आज डॉ.कलाम का जन्मदिन है।ए पी जे अब्दुल कलाम के विचार युवाओं के लिए बहुत ही प्रेरक हैं। अब्दुल कलाम आजाद भारत के 11 वें राष्ट्रपति थे इसके साथ ही साथ वो एक महान वैज्ञानिक भी थे जिन्हें “मिसाइल मैन...
 पोस्ट लेवल : 145
kuldeep thakur
2
स्नेहिल नमस्कार--------सोमवारीय विशेषांक में आप सबका हार्दिक अभिनंदन है।★★★★★टप-टपाती मादक बूँदों कीरुनझुनी खनक,मेंहदी की खुशबू से भींगा दिन,पीपल की बाहों मेंझूमते हिंडोले,पेड़ों के पत्तों,छत के किनारी सेटूटतीमोतियों की पारदर्शी लड़ियाँआसमान केमाथे पर बिखरी...
 पोस्ट लेवल : 1459
kuldeep thakur
2
स्नेहिल अभिवादन-----जो लेखक समय के समग्र शिल्प में जीवित नहीं रहता उसकी विकलांगता निश्चित है। इसके बाद भी वह जनता के स्मरण में रहेगा—रह पाएगा या नहीं, यह अनिश्चित है। हो सकता है, उससे ग़लतियाँ हो जाएँ। जिसे वह अतीत का समृद्ध वर्चस्व समझता है, वह वास्तव में रूढ़ियाँ ह...
 पोस्ट लेवल : 1458
kuldeep thakur
2
कल देर रात तक फेसबुक पर वीडियो प्रेम में उलझी रहीकद्रदान तारीख़ तेरह वार शनिवारअसर हुआ तो बुढ़िया का बेड़ा पारलो नहीं समझ में आई बातें टेढ़े-मेढ़ेआगे खेत था। सरसों की तरह बारीक दोनों वाले कोसरा कीझुकी-झुकी बालियाँ ढलवान से लेकर पहाड़ी के चढ़ाव तक फैली हुई थीं।जगह-ज...
 पोस्ट लेवल : 1457
kuldeep thakur
2
सादर अभिवादन। बरसात का मौसम हैख़ुशियाँ लाता है ख़तरात में लपेटकर, धूल-धूसरित फूल-पत्ते धुल गये बहा ले असबाब गये नदी-नाले भँवर में लपेटकर। -रवीन्द्र    आइये अब आपको आज की पसंदीदा रचनाओं की ओर ले चलें-  खुद अप...
 पोस्ट लेवल : 1455
kuldeep thakur
2
।।प्रातः वंदन।।देखो, अम्बर से धरती परऊषा हँसती आ रही उतर।स्वर्णिम आभा की कांतिमयीकिरणें कण-कण पर फूट रहीं,कलियाँ, सुमनावलियाँ हँस-हँससौन्दर्य स्वर्ग का लूट रहीं॥शशि की संगिनि यह रूप देखमुँह छिपा रही लज्तित हो कर..1916-1998स्मृतिशेष  द्वारिकप्रसाद माहेश्वरीचलिए...
 पोस्ट लेवल : 1454
kuldeep thakur
2
सादर अभिवादन..अच्छा लगाभाई कुलदीप जी आ गएअच्छा लगापिछला अँक देख करनीतिगत फैसला लिया है सखी नेसमर्थन करती हूँ मैं...स्वागतेय क़दम, हम-क़दम काचले रचनाओं की ओर...गर्भपात: एक अंर्तव्यथा.. रानू सुप्रियान जला पायी न दफना पायी,तुमने जन्म भी नही लिया,और मृत्यु के ग्रास में...
 पोस्ट लेवल : 1453
kuldeep thakur
2
स्नेहिल नमस्कार--------सोमवारीय विशेषांक में आप सबका हार्दिक अभिनंदन है।आज सबसे पहले बात करते हैं ब्लॉग संपर्क फॉर्म की,जिसपर आपको अपनी रचनाएँ सोमवारीय विशेषांक के लिए प्रेषित करनी है।आप सभी से विनम्र अनुरोध है कृपया  अगली बार ब्लॉग सम्पर्क फार्...
 पोस्ट लेवल : 1452
kuldeep thakur
2
जय मां हाटेशवरी.....अति उतसाहित हूं.....ब्लौग के पांचवें वर्ष की पहली प्रस्तुति बनाते हुए.....मैं प्रारंभ से ही इस ब्लौग से जुड़ा हूं....."क्योंकि मैं प्रारंभ से ही इस ब्लौग से जुड़ा हूं.....पर खेद है..... चौथे वर्ष में.....नियमित प्रस्तुति नहीं लगा सका......इस वर्...
 पोस्ट लेवल : 1451
kuldeep thakur
2
अंक जोड़ीयेगा तो कितना आयेगा = 1. पंचम वर्ष की मेरी प्रथम प्रस्तुतिब्लॉग पाँचवें वर्ष में प्रवेश कर गयाऔरचुका नहीं सकते हम पाठकों काऋणराकेशधर द्विवेदी|वैसे तो दोनों का नाम'श' से प्रारंभ होता थाएक शोषित वर्ग का प्रतिनिधित्व करता थाऔर दूसरा शोषक वर्ग का।कर्ज उतर जाता...
 पोस्ट लेवल : 1450