ब्लॉगसेतु

Yashoda Agrawal
8
सादर अभिवादनमाह नवम्बर का पहला दिनक्या कुछ यादगार कर लियाअक्टूबर ने...हाँ दो नए राज्य दिए हैंशुभकामनाएँ..अब नवम्बर से भी बहुत उम्मीदें है..चलें आज की रचनाओं की ओर...मुक्ति ...विभा रानी श्रीवास्तव 'दंतमुक्ता' यूँ तो भाईदूज के दिन बिहार के मिथिला में भी रंगोली ब...
 पोस्ट लेवल : 162
kuldeep thakur
2
आज मुसलिम धर्मावलंबियों के द्वारा मनाया जाने वाला एक प्रमुख त्योहार मुहर्रम है।इस्लामी वर्ष यानि हिजरी संवत् यानि इस्लामिक कैंलेडर का प्रथम महीना।हुसैन सहित उनके 72 साथियों के शहीद होने का शोक मनाया जाता है। इस दिन लोग काले कपड़े पहनते...
 पोस्ट लेवल : 1162
kuldeep thakur
2
जय मां हाटेशवरी...कल २६ दिसम्बर था... यानी... अमर शहीद ऊधम सिंह जी की ११६ वीं जयंतीभारत माँ के इस सच्चे सपूत को हमारा शत शत नमन | कल के ही दिन...यानी २6 दिसम्बर १७६१को गुरु गोविन्द सिँह जी के दो बेटे बाबा फतेह सिँहऔर बाबा जोरावर सिँह को जिँदा दीवार मेँ चुनवा दिया ग...
 पोस्ट लेवल : 162
ऋता शेखर 'मधु'
293
दौड़ाती रही    आशाओं की कस्तूरी    जीवन भर ||आदरणीय त्रिलोक सिंह ठकुरेला जी के हाइकुओं को देखिए हाइगा के रूप में...हाइकु भेजने के लिए आ०ठकुरेला जी का आभार !!हाइकु में भाव और सार्थकता का सम्मिश्रण हो तो हाइगा के रूप खिल जाते हैं | सिर्फ &nbs...
ऋता शेखर 'मधु'
121
माँ, मैं तेरी बगिया कीकोमल सी इक फूलकली थीमुझको सहलातीमुझको दुलरातीअपने अँगना को तू महकातीमेरी एक हंसी पर तूक्षण क्षण न्योछावर हो जातीमुझको अपने गले लगाकरबिन कहे सब कुछ कह जातीबहुत अकल तब नहीं थी मुझकोपर तेरा अनकहा विस्मित कर जातापकड़ के तेरी ऊँगलीडग डग भरती मैं शा...