ब्लॉगसेतु

Kajal Kumar
20
 पोस्ट लेवल : kashmir EU कश्‍मीर
उमाशंकर  मिश्र
413
उमाशंकर मिश्रTwitter : @usm_1984नई दिल्ली, 25 अक्तूबर (इंडिया साइंस वायर):  चिकित्सा के क्षेत्र में नैनो-दवाओं (नैनोफार्मास्युटिकल्स) का उपयोग एक उभरता हुआ क्षेत्र है। भारत में नैनोफार्मास्युटिकल के मूल्यांकन के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। ये दिशा-निर्दे...
 पोस्ट लेवल : Nano Technology Nano Pharmaceuticals Guidelines
Bharat Tiwari
26
टीआरपी के बिसातियोंन प्राइम टाइम में हंगामा मचा और न कोई कवर स्टोरी सामने आयी अनब्याही माता होने की पीढ़ीगत परम्परा के अनगिनत महीन और भद्दी वजहों को तलाशता कोई नौकरशाह नहीं मिला, कोई समाजसेवी भी नहीं और कोई पत्रकारनुमा सोशल एक्टिविस्ट भी नहीं दिखा। तब ऐसी खबरें...
Bharat Tiwari
26
#पत्र_शब्दांकन: मृदुला गर्ग नया ज्ञानोदय, सितम्बर २०१९ कथा-कहानी विशेषांक आदि परकहते हैं फंतासी को चारों पैरों पर खड़ा होना चाहिए वरना न फंतासी रहती है, न सच...कहानी 'नरम घास, चिड़िया और नींद में मछलियां')  मैने 'नया ज्ञानोदय' में ही पढ़ ली थी। बहुत ही शानदा...
Bharat Tiwari
26
‘आइटी सेल’ मानसिकता का विषाणु उदारवाद, लोकतंत्र और सामाजिक न्याय की पक्षधरता का दावा करनेवाले के मस्तिष्क को भी संक्रमित कर रहा है — प्रकाश के रेसम्पादकीयरवीश कुमार के सम्मान से चिढ़ क्यों!— प्रकाश के रेपिछले महीने जब रवीश कुमार को पत्रकारिता के क्षेत्र में उत...
मनीष कुमार
143
वेनिस की यात्रा एक ख़्वाब सरीखी थी। कब ये सपना आँखों के आगे तैरा, स्मृतियों में शामिल हुआ और फिर निकल गया ये उस थोड़े से समय में पता ही नहीं चला। कभी कभी तो ये लगता है कि वेनिस के चारों ओर जो लैगून है वो एड्रियाटिक सागर की फैली हुई बाहें हों। वही बाहें जो नहरों...
मनीष कुमार
143
इटली की वो शाम मुझे कभी नहीं भूलती। हमारी बस रोम से निकलने के बाद केन्द्रीय इटली के किसी रिसार्ट की ओर जा रही थी। गर्मी के मौसम में यूरोप में अँधेरा नौ बजे से पहले नहीं होता और ऐसी उम्मीद थी कि बस हमें उससे पहले वहाँ पहुँचा देगी। पहले राजमार्ग और फिर कस्बों की ओर न...
मनीष कुमार
143
वैटिकन सिटी का शुमार विश्व के सबसे छोटे देश में होता है। अगर आप पूछें कि इस छोटे का मतलब कितना छोटा तो समझ लीजिए कि उतना ही जितना की छः सौ मीटर लम्बा और सात सौ मीटर चौड़ा कोई इलाका हो। मतलब ये कि आप मजे से तफरीह करते हुए घंटे भर में इस देश की चोहद्दी नाप लेंगे।...
Khushdeep Sehgal
57
लोकसभा चुनाव 2014 के नतीजे आने से पहले राष्ट्रीय स्तर के एक अख़बार में मेरा लेख प्रकाशित हुआ. तब चुनाव के दौरान माहौल से ही साफ़ था कि नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं. उस वक्त कुछ सुधिजन सवाल करते थे कि कोई ‘अधिनायकवादी’ नेता दिल्ली की गद्दी संभालत...
मनीष कुमार
143
इटली से जुड़े इस यात्रा वृतांत में आपने मेरे साथ सबसे पहले देखा फेरारी कारों का संग्रहालय और फिर पीसा की मीनार। पिछली कड़ी में आपको रोम के अनजाने स्वरूपों की कुछ झलकियाँ दिखाई थीं पर आज बारी है रोम शहर के गौरवशाली अतीत की कुछ खिड़कियों को खोलने की। तो तैयार हैं ना आप...