ब्लॉगसेतु

Bhavana Lalwani
360
फिल्में देखने का शौक फिर से जागा है और इसलिए रोज की एक फिल्म  देखने पर कमर बाँध रखी है।  और उसमे भी  sci  fi  और fantasy  वाली फिल्में मुझे ज्यादा पसंद हैं।  तो इसी जोश के चलते इंटरस्टेलर,  एड अस्त्रा और क्रिस्टोफर रोबिन समेत...
Bhavana Lalwani
360
Me : It is very boring today.Time :  .....Me : How to pass the time ?Time : You can't pass me.you are going through me. Every second, every nano second.Me : I have not asked for a philosophical response.Time :  I am everywhere, you can't escape.Me : I hav...
 पोस्ट लेवल : Essays random thoughts fiction essay fantasy
Bhavana Lalwani
360
आज मैंने बरसो बाद रात के आसमान में, काले सलेटी बादलों के  मेले में छिपते छिपाते चाँद को देखा।  एक सफ़ेद मोती, चांदनी का थाल, आसमान की चादर पर टंका रेशम का टुकड़ा। ये चाँद फूली हुई रोटी कैसे लग सकता है ??? रोटी तो हलके भूरे गेहुएँ रंगत वाली और छोटी छोटी काली...
 पोस्ट लेवल : Hindi Essays night moon
Bhavana Lalwani
360
इस दुनिया का हर आदमी एक कहानी है।  उसका बोलना, चलना, रहना,  व्यव्हार, जीवन सब कुछ एक लम्बी ऊबा देने वाली कहानी है जिसके प्लाट और थीम को हर समय प्रेडिक्ट करने की कोशिश की जाती है।  दुनिया का ये सारा कारोबार, ये जगमग, ये  कोलाहल इन ढेर सारी कहानिय...
 पोस्ट लेवल : human life Hindi Essays random thoughts Life
Bhavana Lalwani
360
दिन गुज़रते हैं फिर भी वक़्त थमा  हुआ सा है.ये एक अजीब मौसम है, इसमें दिन और रात का हिसाब आपस में गड्डमड्ड सा हो गया है. यहां उत्तरी ध्रुव की लम्बी रौशनियों वाली रातें भी हैं और  महासागर  के अथाह विस्तार जैसे  अनंत तक पसरे हुए दिन भ...
Bhavana Lalwani
360
काश कि  एक बोहेमियन जैसी ज़िन्दगी होती। ये ख्याल अचानक आया कि  काश ऐसा बंजारों जैसा जीवन होता, एक अनवरत यात्रा, जिसका कोई ठौर ठिकाना, ठहराव, कोई मकान या निशान नहीं होता। सिर्फ ज़रूरत भर का सामान और साथ चल सके जितने ही रिश्ते … जब तक चलते रहे तब तक...
Bhavana Lalwani
360
Diwali is not just a festival, but, it is more like a phenomenon; An event that takes place once in a year and for those Five Days of Festival, we start preparations around a month ago or sometimes 2-3 months ago. It is the only time of the year when people serious...
Bhavana Lalwani
360
तो इस बार का indispire टॉपिक है, आपकी पसंद की टॉप टेन किताबें बताइये। अब पढ़ा तो बहुत है, स्कूल  कॉलेज और फिर नौकरी करते हुए पब्लिक लाइब्रेरी तक …  जो हाथ लगा वो सब पढ़ डाला। पर ऐसा टॉप टेन  जैसा कभी कुछ  सोचा नहीं। तो चलिए आज सोचते हैं,...
Bhavana Lalwani
360
नरम हरी घास पर रखा हुआ हर कदम, एक ठंडी लहर उसके शरीर के अंदर भेज रहा था.  ऐसा लगता था कि  ओस  की नमी उसके पैरों से होते हुए थके हुए शरीर के हर हिस्से तक पहुँच रही थी, तेज़ धूप से जले हुए मन प्राण  को फिर से ऊर्जा मिल रही थी."ये सुब...
Bhavana Lalwani
360
CarConnect.in, ये नाम मैंने इंडीब्लॉगर पर देखा और सोचा कि  क्यों ना इस कांटेस्ट में पार्टिसिपेट किया जाए, आखिरकार अब मुझे भी कार ड्राइविंग का और स्पीड का चस्का लग चुका है. जब बात हो रोडट्रिप्स की, फैमिली के स्टेटस की और कम्फर्ट की,  तब&nbsp...