ब्लॉगसेतु

Bharat Tiwari
23
An Era of Darkness प्रजातन्त्र से परिचित कराने का ब्रिटिश दावा Dr Shashi TharoorPart 1डॉ शशि थरूर की अवश्य पढ़ी जाने वाली किताब 'An Era of Darkness/अन्धकार काल' के अंश, एक ज़रूरी अध्याय 'प्रजातन्त्र, प्रेस, संसदीय प्रणाली एवं विधि सम्मत नियम' / De...
Bharat Tiwari
23
डॉ शशि थरूर की अवश्य पढ़ी जाने वाली किताब 'An Era of Darkness/अन्धकार काल' के अंश, एक ज़रूरी अध्याय 'प्रजातन्त्र, प्रेस, संसदीय प्रणाली एवं विधि सम्मत नियम' / Democracy, The Press, The Parliamentary System' की श्रृंखला English और हिंदी में, आप शब्दांकन पाठकों के...
Bharat Tiwari
23
Hindi Novel Raag Darbari Excerptमेला चले रुप्पन बाबू, रंगनाथ, सनीचर और जोगनाथ कार्तिक-पूर्णिमा को शिवपालगंज से लगभग पाँच मील की दूरी पर एक मेला लगता है। वहाँ जंगल है, एक टीला है, उस पर देवी का एक मन्दिर है और चारों ओर बिखरी हुई किसी पुरानी इमारत की ईंटें हैं।...
Bharat Tiwari
23
हिंदी, प्रेम उपन्यास — बेदावा: एक प्रेम कथा — तरुण भटनागर उपन्यास अंश (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); ‘ अच्छा छोड़ो...कुछ और बताओ...कहाँ रहे इतने दिनों... क्या किया...?’तरुण भटनागर‘ नहीं बता सकता...।’‘ क्यों...?’‘ आज तुम्हें सुनना है...।...
Bharat Tiwari
23
'आईना साज़' — अनामिका — उपन्यास अंशज़रूरी है कि दुनिया की सारी ज़ुबानों के शब्द मुल्कों और मज़हबों के बीच की सरहदें मिटाते हुए सूफ़ी जत्थों की तरह आपस में दुआ-सलाम करते दिखाई दें। आसमान में सात चाँद एक साथ ही मुस्कुराएँ।अनामिका दीदी, जिस-जिस क्षेत्र में हैं इंसान क...
Bharat Tiwari
23
उपन्यास अंश: इश्क़ फरामोश ― प्रितपाल कौर  प्रितपाल हिंदी में लिखती रहती हैं। इश्क़ फरामोश उनके जल्द बुकस्टाल पर आ रहे उपन्यास का शीर्षक है। बेहिचक कह देने वाली लेखिका के चौथे उपन्यास (एक अंग्रेजी) का यह अंश उपन्यास को पूरा पढ़ने की जिज्ञासा पैदा कर सकता...
Bharat Tiwari
23
उपन्यास कैसे लिखें? ऐसे — पढ़िए: उमा शंकर चौधरी के उपन्यास 'अंधेरा कोना' के अंश ... पता नहीं, लेकिन हो सकता है कि आपने भी कभी मेरी तरह यह सोचा हो कि कोई कथाकार आपका प्रिय लेखक क्यों हो जाता है। उमा शंकर को जितनी दफ़ा पढ़ता हूँ बस यही लगता रहता है उससे अधिक सच किसी और...
Bharat Tiwari
23
मृणाल पांडे के उपन्यास का अंशकहते हैं ऐसा लिखिए जो पहले न लिखा गया हो, जो बिलकुल नया हो...इस कहे को सुने तो सारा हिंदी-साहित्य-वर्ग है लेकिन किये कितना है, वह भूतकाल में मिलता है। मृणाल पांडे को पढ़ना हर बार उस भूत को वर्तमान में दिखा जाता है। इतनी ज़बरदस्त शैली, ऐस...
Bharat Tiwari
23
खुश्बू: रिस्क@इश्क...इरा टाक के रूमानी उपन्यास का अंंशशाज़िया के पास फिलहाल कोई चारा नहीं था. वो अनमनी सी मार्टिन के साथ कार से उतर गई. वो ओनली फॉर ईव नाम की एक दुकान में घुस गई. उसने देखा मार्टिन बाहर खड़ा सिगरेट पी रहा था. जल्दी में उसने एक काले रंग की लॉन्ग फ्राक...
Bharat Tiwari
23
यतीन्द्र मिश्र — लता मंगेशकर का भजन देवता सुनते थे! लता: सुर-गाथा : अंश 1:10यतीन्द्र मिश्रशुरुआती दौर में, जब लता मंगेशकर ने फ़िल्मों में बतौर पार्श्वगायिका गीत गाना विधिवत ढंग से शुरु भी नहीं किया था, उस दौरान वे अपने पूरे परिवार के साथ नाना चौक में रहने आयी थ...