ब्लॉगसेतु

समीर लाल
77
भारत की आबादी को अगर आप त्रिवेणी पुकारना चाहते हैं, तो इत्मिनान से पुकार लिजिये. आपके पास तो अपने त्रिवेणी कहने का आधार भी होगा वरना तो लोग कुछ भी जैसे अंध भक्त, भक्त, देश द्रोही, गद्दार, पप्पू, गप्पू आदि जाने क्या क्या पुकारे चले जा रहे हैं, कोई कहाँ कुछ पूछ पा रह...
sivind singh
326
तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो,दिल मेरा था और धड़क रहा था वो,प्यार का तालुक भी अजीब होता है,आंसू मेरे थे सिसक रहा था वो.तेरी बेरुखी को भी रुतबा दिया हमने ,तेरे प्यार का हर क़र्ज़ अदा किया हमने ,मत सोच के हम भूल गए है तुझे ,आज भी खुदा से पहले याद किया है तुझे..तेरी धड...
rishabh shukla
434
नमस्कार, स्वागत है आप सभी का यूट्यूब चैनल "मेरे मन की" पर| "मेरे मन की" में हम आपके लिए लाये हैं कवितायेँ , ग़ज़लें, कहानियां और शायरी| आप अपनी रचनाओं का यहाँ प्रसारण करा सकते हैं और रचनाओं का आनंद ले सकते हैं| #meremankee के YouTube चैनल को सब्सक्राइब करना न भूल...
समीर लाल
77
काश!! आशा पर आकाश के बदले देश टिका होता!! वैसे सही मायने में, टिका तो आशा पर ही है.जिन्दगी की दृष्टावलि उतनी हसीन नहीं होती जितनी फिल्मों में दिखती है. इसमें बैकग्राऊंड म्यूजिक म्यूट होता है, वरना तो जाने कब के गाँव जाकर बस गये होते. मुल्ला मचान पर बैठे, खेतों में...
MediaLink Ravinder
457
हिंदी में फिल्में देखी और गीत सुने ! हिंदी में ही बातें की और स्वप्न बुने!हिंदी में जो अपनत्व है वह और कहां !हिंदी में जो ममत्त्व है वह और कहां !हिंदी में कुछ कहें तो अपना लगता है !बाकी सब कुछ सपना सपना लगता है !हिंदी में ही सोचना अच्छा लगता है !हिंदी में ही ब...
 पोस्ट लेवल : Hindi Kartika Singh Hindi Divas Poetry
rishabh shukla
434
A song by an old man from Bhadohi, Uttar Pradesh, in praise of our Prime Minister Narendra Damodar Das Modi and Uttar Pradesh Chief Minister Adityanath Yogi. Share, Support, Subscribe!!! Mere Man Kee | Book | Hindi | Poem | Rishabh Shukla | - https://youtu.be/2...
MediaLink Ravinder
413
भाषा को सियासत की साज़िशों का शिकार न होने दें लुधियाना: 10 जनवरी 2020: (कार्तिका सिंह//इर्द गिर्द डेस्क):: भाषा को सम्मान देने की बजाये उसे हथियार बना लिया गया है। सियासत एक बार फिर अपनी नापाक चाल चल रही है। कभी पंजाबी के खिलाफ, कभी अंग्रेजी के...
Bharat Tiwari
25
'आईना साज़' — अनामिका — उपन्यास अंशज़रूरी है कि दुनिया की सारी ज़ुबानों के शब्द मुल्कों और मज़हबों के बीच की सरहदें मिटाते हुए सूफ़ी जत्थों की तरह आपस में दुआ-सलाम करते दिखाई दें। आसमान में सात चाँद एक साथ ही मुस्कुराएँ।अनामिका दीदी, जिस-जिस क्षेत्र में हैं इंसान क...
MediaLink Ravinder
457
Tuesday: 8th January 2020 at 3:44 PMयह पुस्तक मेला गांधी जी को समर्पित हैनई दिल्ली: 7 जनवरी 2020: (कविता वर्मा//हिंदी स्क्रीन)::दिल्ली के विश्व पुस्तक मेले का इंतजार पुस्तक प्रेमियों लेखकों और प्रकाशकों को साल भर रहता है। अभी कुछ वर्षों से यह जनवरी के प्र...
MediaLink Ravinder
457
इसके बाद कौंधती हैं दिमाग में यादों की बिजलियां अब तुम कही भी नही होकही भी नहीना मेरी यादो मेंन मेरी बातो मेंअब मैं मसरूफ रहती हूँदाल के कंकड़ चुन'ने मेंशर्ट के दाग धोने मेंक्यारी में टमाटर बोने मेंएक पल भी मेराकभी खाली नही होताजो तुझे याद करूँया तुझे महसूस करू...