ब्लॉगसेतु

MediaLink Ravinder
457
डा. राजिंद्र टोकि की पुस्तक पर प्रपत्र वचन होगा डा. अनु शर्मा कौल कालुधियाना: 23 जनवरी 2020: (हिंदी स्क्रीन ब्यूरो)::  जब अधिकतर लोग जाने अनजाने अपनी ऊर्जा सियासतदानों के प्रभाव में आ कर सोशल मीडिया के अलग अलग मंचों पर व्यर्थ गंवा रहे हैं उस माहौल मे...
MediaLink Ravinder
457
Tuesday: 8th January 2020 at 3:44 PMयह पुस्तक मेला गांधी जी को समर्पित हैनई दिल्ली: 7 जनवरी 2020: (कविता वर्मा//हिंदी स्क्रीन)::दिल्ली के विश्व पुस्तक मेले का इंतजार पुस्तक प्रेमियों लेखकों और प्रकाशकों को साल भर रहता है। अभी कुछ वर्षों से यह जनवरी के प्र...
MediaLink Ravinder
457
इसके बाद कौंधती हैं दिमाग में यादों की बिजलियां अब तुम कही भी नही होकही भी नहीना मेरी यादो मेंन मेरी बातो मेंअब मैं मसरूफ रहती हूँदाल के कंकड़ चुन'ने मेंशर्ट के दाग धोने मेंक्यारी में टमाटर बोने मेंएक पल भी मेराकभी खाली नही होताजो तुझे याद करूँया तुझे महसूस करू...
डॉ. राहुल मिश्र Dr. Rahul Misra
564
फूलबाग नौचौक में बैठे राजा राम...मधुकरशाह महाराज की रानी कुँवरि गणेश ।अवधपुरी से ओरछा लाई अवध नरेश ।।सात धार सरजू बहै नगर ओरछा धाम ।फूल बाग नौचौक में बैठे राजा राम ।।तुंगारैन प्रसिद्ध है नीर भरे भरपूर ।वेत्रवती गंगा बहै पातक हरै जरूर ।।राजा अवध नरेश को सिंहासन दरबा...
MediaLink Ravinder
457
जाते हुए साल 2019 के नाम मन में उठी कुछ पंक्तियां क्या करना है सन 2020?क्या देगा?अच्छे दिन?क्या बदलेगा?महंगाई रोकेगा या रोज़गार देगा?शायद कुछ भी नहीं बदलेगा!यह ऐसा कुछ भी नहीं देगा!फिर भीतारीख, सन और कैलेंडर तो बदलेगा ही....!दिल की खुशियां च...
 पोस्ट लेवल : 2019 Hindi Hindi Screen Rector Kathuria Literature Poetry
Rajeev Upadhyay
360
डाकिए ने थाप दी हौले से आज दरवाजे पर मेरे कि तुम्हारा ख़त मिला। तुमने हाल सबके सुनाए ख़त-ए-मजमून में कुछ हाल तुमने ना मगर अपना सुनाया ना ही पूछा किस हाल में हूँ? कि तुम्हारा ख़त मिला। बता क्या जवाब दूँ मैं तुमको?&...
 पोस्ट लेवल : Hindi Poem Literature
Rajeev Upadhyay
360
क्योंकिमैं रुक ना सकीमृत्यु के लिएदयालुता से मगरइन्तजार उसने मेरा कियाऔर रूकी जब तो हम और अमरत्वबस रह गए।धीरे-धीरे बढ़ चले सफर पर हम जल्दबाजी नहीं उसे। सब कुछ छोड़ दिया मैंने अपनी मेहनत और आराम भी। शिष्टता उसकी ऐसी थी!हम स्कूल से होकर गु...
 पोस्ट लेवल : Translation Literature
MediaLink Ravinder
457
7 दिसंबर 2019 को जगजीत सिंह ने 23:16 पर पोस्ट की  Sirjandhara ग्रुप रिटायर्ड आदमी को,सब फालतू समझते हैं।वे छोटी छोटी बातों में, बार बार बमकते हैं।बात करो तो, अपनी ही हाँकते हैं।मैंने ये किया, वो किया, यही फांकते हैं!    ...
 पोस्ट लेवल : Ludhiana Jagjit Singh Sirjandhara Groups Whatsapp Literature Poetry
rishabh shukla
434
Aloneना कोई दोस्त मेरा,ना है हमदर्द कोई,अपना कहने को तो कई,लेकिन अपनापन नहीं है|मैं अकेला हूँ...ना कोई है हँसी,ना कोई ठिठोली करने वाला,दर्द देने को कई तैयार बैठे हैंलेकिन कोई हमदर्द नहीं है|मैं अकेला हूँ....कोई कैसे इतना,उलझ जाता है जिंदगी में,की भूल जाता है,कि कोई...
MediaLink Ravinder
23
कविता पहुंची कालेजों तक:GCG  में हुआ विशेष आयोजन लुधियाना: 14 नवंबर 2019: (पंजाब स्क्रीन टीम):: युग बदले तो वक़्त के साथ साथ बहुत कुछ बदल गया। रीति रिवाज तक बदलते देखे गए। लोगों ने अपने धर्म बदल लिए, मज़हब बदल लिए, ईमान बदल लिए। इस सब कुछ के बावजूद...