ब्लॉगसेतु

roushan mishra
350
संतोष गंगवार जी बरेली से 2009 को छोड़कर 1989 से लगातार सांसद चुने जा रहे हैं। वे अटल सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कद्दावर भाजपा नेताओं में गिने जाते हैं। हमें हमेशा लगता रहा है कि वर्तमान सरकार में स्वतंत्र प्रभार राज्य मंत्री का पद उनक...
MediaLink Ravinder
27
 मज़दूरों को यह कहने का-कि "हम हैं न आपके साथ"  कर्मभूमि छोड़ कर जा रहे मज़दूरों की तस्वीरें पंजाब स्क्रीन के लिए एम एस भाटिया ने क्लिक कीं  लुधियाना: 17 मई 2020: (अमृत पाल सिंह 'गोगिया'//पंजाब स्क्रीन):: अमृतपाल गोगिया  करोना जैसी आपदा क...
 पोस्ट लेवल : Corona Virus Labourer Labour Email News
MediaLink Ravinder
405
हर कोने में परेशान बैठे मज़दूर मांग रहे हैं गांव वापिस जाने की सहायता लुधियाना: 29 अप्रैल 2020:(एम एस भाटिया//प्रदीप शर्मा इप्टा//इर्द गिर्द डेस्क)::जिन मज़दूरों ने कभी मांगना नहीं सीखा था। जिनको केवल आपने हाथों की सच्ची मेहनत पर भरोसा था। इसी मेहनत के...
 पोस्ट लेवल : Corona Virus May Day AITUC Hunger Labour Left Movement Migration
दिनेशराय द्विवेदी
58
पिछले चार-पाँच दिनों से जिस तरह की रिपोर्टें आ रही हैं उन से लग रहा था कि भारत में 75-80 प्रतिशत कोरोना संक्रमित ऐसे हैं जिनमें कोई लक्षण ही नहीं नजर आ रहे हैं। वे समाज में खुले घूम रहे हैं और निश्चित ही अनेक को संक्रमित भी कर रहे हैं। इस पर कल ही लिखना चाहता था, प...
दिनेशराय द्विवेदी
58
मजदूरों के पलायन की वजह क्या थी?भारत के प्रधानमंत्री ने 24 मार्च 2020 की शाम 8 बजे टीवी-रेडियो से जीवित प्रसारण में सूचना दी कि कोविद-19 महामारी से बचाव के लिए आधी रात अर्थात 25 मार्च शुरु होते ही देश भर में 21 दिनों का लॉकडाउन आरंभ हो जाएगा। इस के पहले उन्होंने 19...
दिनेशराय द्विवेदी
58
छँटनी की परिभाषा बदलने से जन्मी श्रमिक-कर्मचारियों की नई श्रेणीदेश के श्रम न्यायालयों और औद्योगिक न्यायाधिकरणों में जो प्रकरण लंबित हैं, मेरे अनुमान के अनुसार उनमें से 80 प्रतिशत से अधिक केवल छंटनी के मामले हैं। 1984 में छंटनी की परिभाषा में परिवर्तन के पहले तक उसक...
दिनेशराय द्विवेदी
58
श्रम कानून में परिवर्तन से मजदूर वर्ग की स्थिति कैसे बदतर हुई?फरवरी 1978 में सुप्रीमकोर्ट के 7 न्यायाधीशों की वृहत पीठ ने बैंगलोर वाटर सप्लाई एण्ड सीवरेज बोर्ड व अन्य बनाम आर. राजप्पा व अन्य के मुकदमे में निर्णय पारित कर यह स्पष्ट कर दिया था कि किस तरह के संस्थानों...
दिनेशराय द्विवेदी
58
नए कानूनों ने मजदूर वर्ग को कमजोर और असहाय बनायाकेन्द्र और देश के अधिकांश राज्यों में श्रीमती इन्दिरागांधी की पार्टी कांग्रेस (इ) की सरकारें थी। तभी ठेकेदार मजदूर (विनियमन एवं उन्मूलन) अधिनियम-1970 संसद में पारित हुआ। इसका उद्देश्य बताया गया था कि ठेकेदार मजदूरों क...
दिनेशराय द्विवेदी
58
संगठित मजदूरों के क्षेत्र को न्यूनतम बनाए रखने की साजिशइस विमर्श की कल की कड़ी में मैं ने कहा था कि कोविद-19 महामारी को फैलने से रोकने के उपायों की घोषणा मात्र से, लोगों को विशेष रूप से देश से औद्योगिक केन्द्रों से मजदूरों और उनके परिवारों द्वारा उनके गाँवों की ओर...
दिनेशराय द्विवेदी
58
न्याय की स्थिति बहुत बुरी है। विशेष रुप से मजदूर वर्ग के लिए। आज मेरी कार्यसूची में दो मुकदमे अंतिम बहस के लिए थे। इन दोनों मामलों में प्रार्थी मजदूर हैं, जिनके मुकदमे 2008 से अदालत में लंबित हैं। हालाँकि श्रम न्यायालय में जाने के पहले इन मजदूरों ने श्रम विभाग में...