ब्लॉगसेतु

Bhavana Lalwani
360
मुझे यात्राओं का कोई बहुत ज्यादा मौका नहीं मिला है; पुराने ज़माने के लोगों की तरह मेरी यात्रा भी छुट्टियों में ननिहाल जाने या बहुत हुआ तो किसी और रिश्तेदार के यहां जाने तक का एक सीमित अनुभव है ।  पर इस सीमित यात्रा में भी जो कभी रो...
Bhavana Lalwani
360
My Dear Little Girl,How are you ? It has been a long time since we have spoken to each other.  It has been more than ten long years of that December morning, a whole decade !!! when we made a promise to ourselves. I know, how much you exactly  remember ev...
Bhavana Lalwani
360
कहानियां लिखे एक  अरसा बीत गया है. पहले कहानियां  अपने आप दिमाग की फैक्ट्री से बनकर आती और  यहां की बोर्ड पर टाइप हो जातीं। अब फैक्ट्री बंद है और चालू  होने के ऐसे कोई आसार भी  नहीं दिखते। फिर भी यूँही रस्ते चलते, घूमते ...
Bhavana Lalwani
360
Diwali is not just a festival, but, it is more like a phenomenon; An event that takes place once in a year and for those Five Days of Festival, we start preparations around a month ago or sometimes 2-3 months ago. It is the only time of the year when people serious...
Kajal Kumar
7
Bhavana Lalwani
360
कभी कभी ऐसा होता है कि कोई किताब, कोई कहानी या कोई किस्सा हमारी अपनी ज़िन्दगी के किसी बीते हुए हिस्से को फिर से दोहरा जाता है और तब लगता है कि "अरे ये तो मैं ही हूँ या मेरा भी कुछ ऐसा ही हाल हुआ करता था." सर्दियों की  सुबह की  गुनगुनी धूप  ज...