ब्लॉगसेतु

अमितेश कुमार
174
मोटले के सदस्य 2010 का भारत रंग महोत्सव था. कमानी सभागार में मैंने हर्मन वुक के नाटक ‘केन म्युटिनी- द कोर्ट मार्शल’ का मंचन देखा. लगभग ढाई घंटे की अंग्रेजी प्रस्तुति को देखना एक रोचक अनुभव था. युद्ध और कोर्ट मार्शल की नाटकीयता और निरर्थकता को प्रस्तुति मे...
अमितेश कुमार
174
 जाने भी दो यारो और कभी हां कभी ना जैसी फिल्में बनाने वाले कुंदन शाह नहीं रहे. नसीरूद्दीन शाह जिन्होंने इन दोनों ही फिल्मों में काम किया था ने दी इंडियन एक्सप्रेस में एक श्रद्धांजलि लिखा. यह एक अनूठा लेख हैं जिसका गद्य भी अद्भूत है और इसका भाव भी मार्मिक....
 पोस्ट लेवल : Obitury Naseeruddin Shah Kundan Shah.
Show Grab
234
 पोस्ट लेवल : Naseeruddin Shah Gulzar
Show Grab
234
 पोस्ट लेवल : Kishore Kumar Naseeruddin Shah Musafir R.D. Burman