ब्लॉगसेतु

MediaLink Ravinder
430
 पहली जुलाई को फेसबुक पर आमने सामने रात्रि 9 बजे लुधियाना: 30 जून 2020: (रेक्टर कथूरिया//हिंदी स्क्रीन)::जब हालात दमनपूर्ण हो। साम्प्रदायिकता हर तरफ छुपी नज़र आने लगे। विचारधारक  विरोध को हिंसा के सहारे दबाने की बात आम होने लगे तो सच कह...
 पोस्ट लेवल : Ludhiana Poetess Women Iradeep Trehan Facebook Live Poetry
Bharat Tiwari
23
और फिर वह हॅंसी फिर उभरी आश्वस्त करती / थोड़ा ताजा थोड़ा नम / ‘‘ और ठीक हो न / कुछ लिखते भी हो / मैंने पढ़ा था शायद.........’’रघुवंश मणि की कविताओं को पढ़ते हुए जिस अद्भुत ख़ुशी का आगमन होना शुरू होता है, उसके लिए मैं सोचता हूँ कि उन संवेदनशीलों, कविता प्रेमियों और साहि...
यूसुफ  किरमानी
183
जितनी मुंह उतनी बातेंवे वहां सोए ही क्यों थेक्या वे सामूहिक आत्महत्या करने गए थेवे वहां गए ही क्यों थेक्या वे वहां रेलगाड़ियां ही रोकने गए थेआखिर उन मजदूरो का इरादा क्या थाइसमें सरकार का क्याआखिर वे उसी शहर में रुक क्यों नहीं गएशहर दर शहर 24 मार्च से ही लौट रहे हैं...
Vidyut Maurya
119
लॉकडाउन में यूट्यूब पर लोकसंगीत ढूंढते हुए बालेश्वर को सुनने पहुंच गया। भोजपुरी के जाने माने लोकगायक हुआ करते थे बालेश्वर यादव। कई दशक तक उनकी बिरहा शैली में गायकी के लोग दीवाने रहे। सत्तर अस्सी के दशक में बालेश्वर के एलपी रिकार्ड खूब बिकते थे। बालेश्वर खुद गीत लिख...
 पोस्ट लेवल : POETRY SAMAJ
Vidyut Maurya
119
गुलमोहर एक बार फिर खिल उठे हैंसड़क के दोनों तरफ हरियाली अंगड़ाई ले रही है...गुलमोहर के अनगिनत फूल अप्रैल की दोपहरी को भी बना रहे हैं मनभावन पर इन सड़कों पर आजतुम भी नहीं हो और मैं भी नहीं तुम और मैं ही क्या कोई भी तो नहीं है इन गुलमोहर  की छांव तले चलने के लिए...
 पोस्ट लेवल : POETRY
आदित्य सिन्हा
523
S for SolitudeAditya Sinha22.04.2020
 पोस्ट लेवल : English Poetry #AtoZ Challenge Solitude
आदित्य सिन्हा
659
समर्पण (S - Samarpan)आदित्य सिन्हा22.04.2020
आदित्य सिन्हा
659
रेत की पहाड़ ( R- Ret ki pahad)आदित्य सिन्हा 
आदित्य सिन्हा
523
R for Rendezvous with inner selfAditya Sinha21.04.2020
 पोस्ट लेवल : Rendezvous # A to Z Challenge R #poetry
आदित्य सिन्हा
523
Q for QuiverAditya Sinha
 पोस्ट लेवल : Quiver English Poetry #AtoZ Challenge