ब्लॉगसेतु

MediaLink Ravinder
601
साथियों ने लिया अधूरे कार्यों और सपनों को पूरा करने का संकल्‍प लखनऊ, 4 अप्रैल। कॉमरेड शालिनी जैसी युवा सांस्कृतिक संगठनकर्ता के अचानक हमारे बीच से चले जाने से जो रिक्तता पैदा हुई है उसे भरना आसान नहीं होगा। उन्होंने एक साथ अनेक मोर्चों पर काम करते हुए लखन...
 पोस्ट लेवल : Hindi Comrade Shalini Communist Party Peoples
MediaLink Ravinder
601
 (एक क्रान्तिकारी का वसीयतनामा)   -- शालिनी कम्‍युनिस्‍ट हर लड़ाई अपनी पूरी ताक़त के साथ लड़ते हैं।एक सांघातिक रोग है मेटास्‍टैटिक कैंसर -- मैं जानती हूँइसलिए मैं लड़ रही हूँ इसके विरुद्ध अपनी सम्‍पूर्ण इच्‍छाशक्ति के साथ।मैं अभी भरपूर जीना चाहती हूँ...
 पोस्ट लेवल : Art Communist Movements Comrade Shalini Peoples Literature
दिनेशराय द्विवेदी
58
सेक्स (करना) सभी एकलिंगी जीवधारियों का स्वाभाविक कृत्य है और बच्चों की पैदाइश सेक्स का स्वाभाविक परिणाम। जब भी स्वाभाविक परिणाम को रोकने की कोशिश की जाती है तो अस्वाभाविक परिणाम सामने आने लगते हैं। बच्चों की पैदाइश रोकी जाती है तो सीडी पैदा हो जाती हैं। बच्चों को प...
गोविन्द सिंह
443
शीला भाभी के साथ मुक्तेश जी मुक्तेश पन्त एक अद्भुत व्यक्ति हैं. जिन लोगों ने अपने जीवन के उत्तरार्ध में स्थाई तौर पर हल्द्वानी आकर रहने का फैसला किया, उनमें मुक्तेश जी एक हैं. मैं उन्हें नब्बे के दशक से जानता हूँ, जब वह दिल्ली में मेरे नवभारत टाइम्स वाले दफ्तर आया...
 पोस्ट लेवल : People lifestyle Profile
Kajal Kumar
380
 क किसी काम का आदमी नहीं था. ऐसा उसे घर से लेकर बाहर तक, गांव भर के सभी लोगों ने बताया था. उसे भी पक्का विश्वास हो गया था कि इतने लोग ग़लत नहीं हो सकते. उसने मान लिया था कि वह किसी काम का न था.एक दिन वह सोचने लगा कि जब वह किसी काम का आदमी नहीं है तो उसे क्या क...
praveen blogger
231
...लड़कियाँमैं देखता ही रह जाता हूँ उन्हें हमेशा ही विस्मित करती हैं मुझेजब भी देखता हूँ मैं उनको मिलती हैं हरदम चहचहाती हुईबिना किसी भी खास बात केखुलकर हंसती-मुस्कुराती भीलड़कियाँकभी नहीं दिखती वो बेतरतीबघर से बाहर निकलती हैं सजी-संवरी हमेशा पहने होती है रंगीन वस...
praveen blogger
231
...यह मुद्दा वाकई बहुत ही गंभीर है, पर न जाने क्यों इस पर कुछ भी लिखने या कहने से पहले एक चीनी (या जापानी ?) लघुकथा जिसे बहुत पहले शायद बचपन में पढ़ा था, याद आ रही है...कथा कुछ यों है... झेल ही लीजिये...'एक गाँव में एक परिवार रहता था परिवार में कुल जमा चार लोग थे य...
roushan mishra
728
निशाने बाज अभिनव बिंद्रा ने आज उस समय इतिहास रचा जब उन्होने भारत के लिए ओलिंपिक स्पर्धा की व्यक्तिगत श्रेणी मे पहला गोल्ड मेडल जीता।अभिनव ने ये मेडल १० मीटर एयर राइफ़ल स्पर्धा में जीता. उन्होने कुल ७००.५ अंको के साथ स्पर्धा मे पहला स्थान प्राप्त किया जबकि पूर्व ओलि...
 पोस्ट लेवल : We, The People