ब्लॉगसेतु

sangya tandon
197
    बोलते वि‍चार 44आलेख व स्‍वर - डॉ.आर.सी.महरोत्रा‘श्रद्धावान लभते’। यदि आप किसी के प्रति श्रद्धालु नहीं हैं तो आपके अपेक्षित लाभ नहीं मिल सकेगा। मंदिर तक पहुँचने वाले को ही देव दर्शन-लाभ मिलता है।    किसी से कुछ सीखने के लिए आदम...
 पोस्ट लेवल : ramesh chandra mehrotra hindi podcast Bolte Vichar
sangya tandon
197
बोलते वि‍चार 43आलेख व स्‍वर - डॉ.आर.सी.महरोत्राजो चीज हमारे पास नहीं है, उसे हम दूसरों को कैसे दे सकते हैं। धनी आदमी ही दूसरों को धन दे सकता है। आप जिस विषय के ज्ञाता हैं उसी विषय पर दूसरों को ज्ञान दे सकते हैं। किसी बेवकूफ आदमी से समझदारी की बातों की आशा नहीं की ज...
 पोस्ट लेवल : ramesh chandra mehrotra hindi podcast bolte shabd
sangya tandon
197
बोलते वि‍चार 42आलेख व स्‍वर - डॉ.आर.सी.महरोत्राएक साहब अपने स्कूटर पर पीछे गैस सिलिंडर रखकर ले जा रहे थे, जिसे उन्होंने एक चादर से ढक दिया था। ढकने का कारण सिर्फ यह थी कि लोग बाग यह न देख लें कि वे सिलिंडर ढोने का ‘छोटा काम’ खुद कर रहे थे। ज़ाहिर है कि उनकी मान्यता...
 पोस्ट लेवल : ramesh chandra mehrotra hindi podcast bolte shabd
sangya tandon
197
इस बात को बच्चे भी सिद्ध कर देंगे कि आदमी का जैसा कर्म होता है वैसा ही उसको फल मिलता हैं, यहीं। आप खुशबूदार फूल सूँघने का ‘कर्म’ कीजिए, आपको अपनी तबीयत खुश होने का अच्छा ‘फल’ मिलेगा। आप बदबू सूँघने का कर्म कीजिए, आपको मन खराब होने का फल मिलेगा।    &n...
 पोस्ट लेवल : ramesh chandra mehrotra hindi podcast Bolte Vichar
sangya tandon
197
बोलते वि‍चार 40आलेख व स्‍वर - डॉ.आर.सी.महरोत्राएक विश्वविद्यालय के विभागाध्यक्ष किसी बैठक में शामिल होने के लिए एक अन्य विश्वविद्यालय गए थे, जहाँ उन्होंने वहाँ के अपने विषय के विभागाध्यक्ष से किसी ऐसे व्यक्ति का नाम सुझाने को कहा, जिसे वे अपने विश्वविद्यालय में निय...
 पोस्ट लेवल : ramesh chandra mehrotra hindi podcast Bolte Vichar
sangya tandon
197
     बोलते वि‍चार 39आलेख व स्‍वर - डॉ.आर.सी.महरोत्राएक साइकिल सवार की साइकिल का पहिया सड़क के बीच में पड़े एक पत्थर से टकरा गया। साइकिल सवार ने झुँझलाकर वहाँ पत्थर डालनेवाले के नाम पर गंदी-गंदी गालियाँ दे डालीं। उसके ऐसा करने से न तो पत्थर डालने...
 पोस्ट लेवल : ramesh chandra mehrotra hindi podcast Bolte Vichar
sangya tandon
197
आकाशवाणी बि‍लासपुर से प्रसारि‍त रेडि‍यो रूपक 'सूचना और संचार की सार्वभौमि‍कता' आदि‍काल से ही मानव के वि‍कास का आधार सूचनाओं का आदान प्रदान रहा है, दूसरे शब्‍दों में कहें तो हम सूचना और ज्ञान को एक दूसरे का पर्याय मान सकते हैं। संपूर्ण वि‍श्‍व में बि‍खरी प...
 पोस्ट लेवल : hindi podcast रेडि‍यो
sangya tandon
197
बोलते वि‍चार 37आलेख व स्‍वर - डॉ.आर.सी.महरोत्रागीता-सार का पहला वाक्य है -‘जो हुआ, अच्छा हुआ।’ इस विषय पर गंभीरता से विचार करके इसे अमल में लाने से आदमी को परम् संतोष प्राप्त हो सकता है। आईए, इसकी व्याख्या करें।जो हुआ, यदि वह हमारे मन के अनुकूल हुआ है, तब तो अच्छा...
 पोस्ट लेवल : ramesh chandra mehrotra hindi podcast Bolte Vichar
sangya tandon
197
बोलते वि‍चार 36आलेख व स्‍वर - डॉ.आर.सी.महरोत्राआज का काम कल पर छोड़ने के नुकसान के बारे में काफी कुछ कहा गया है। ‘काल करै सो आज कर, आज करै सो अब’ के अनुसार अपने काम को बिलकुल पेंडिंग मत छोडि़ए, क्योंकि पल भर में प्रलय हो सकती है। बहुत सीधी सी बात है कि यदि हम अपना...
 पोस्ट लेवल : ramesh chandra mehrotra hindi podcast Bolte Vichar
sangya tandon
197
आप अपने को स्वस्थ तभी कहते हैं जब आपके सारे अंग ठीक हालत में काम कर रहे होते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आपकी किसी अँगुली की पोर में चोट लगी होती है, तब आपका सारा शरीर उसे याद रखता है। इसी तरह यदि आपके सिर में दर्द हो रहा होता है, तब आप यह नहीं कहा करते कि आपके शेष शरी...
 पोस्ट लेवल : hindi podcast radio programme Bolte Vichar