ब्लॉगसेतु

Mahesh Barmate
265
तुम्हें वो याद करता हैहाँ! फरियाद करता है।वो इश्क़ में तेरेउस दिन का इंतज़ार करता हैजिस दिन दिल से वो कहेकि वो सिर्फ तुमसे ही प्यार करता है।तेरी हाँ और न का उसे कोई फर्क नहीं है अबकि रूह के आशिक़ के पास कोई शर्त नहीं है अब।कुरबतें उसकी जरूरत नहीं थी कभीबस मुहब्बत में...
Jot Chahal
299
Running Water ਵਗਦੇ ਪਾਣੀ(Punjabi Poetry Book)WRITER'S NAMERanjot SinghGENREPoetry, Romance, Love PoetryLANGUAGE PunjabiTOTAL PAGES 80E-MAIL Publisher.ranabooks@gmail.comPHONE +1 647 558 3140Book Price 50 INR TO 300 INR(MAX)Google Playbooks&n...
 पोस्ट लेवल : Poems Poetry
Jot Chahal
71
Best Love Shayari in Hindi and English Font: If you want to get the best love shayari and share it with your friends then We are providing Latest Collection by Writer Ranjot Singh           Love Shayari in Hindi | लव शायरी हिन्दी में …            ...
MediaLink Ravinder
433
दिल में है जज़्बा, हथेली पे जान है! वहां बैठी हर एक औरत महान हैकहां है शाहीन बाग! कहां है शाहीन बाग!पूछते हैं आज सभी कहां है शाहीन बाग! जहां से बुलन्द हुई देश की आवाज़ है!जहां पे छिड़ा है कुर्बानियों का साज़ है!वही है शाहीन बाग! वही है शाहीन बाग!पूछते हैं आज...
Jot Chahal
299
Sacha Pyaar Nahi Hai (Hindi Poetry by Ranjot Singh ) Book Name:  The Voice of Heart Ebook : click here for buyPaperback : Click here for buy***सच्चा प्यार नहीं है***समुंदर में कश्ती किनारा नहीं है, तेरा मुझसे मिलना दोबारा नही...
 पोस्ट लेवल : Ranjot Singh Poems Jot Chahal
नई कलम
358
नज़्म १ (ख़ुदा)एक ही पैगाम थातो क्यू इजाद की गईये अलग-अलग राहें?क्यू बांटना पड़ाएक ही पैगाम कोअलग-अलगकिताबों में?क्यू तामीर नहीं की गईएक ही मुकद्दस किताब?के जिसमें सिर्फ मुहब्बत मुहब्बतऔर मुहब्बत होती.....इसके अलावा कुछ नहींजिसे एक होना थागर वो एक होतातो फिर क...
Jot Chahal
84
110+ Latest Poetry of Parin Shah (IG: @_twisted_pearl_) on LuvShyari Sponsor by Jot Chahal#jotchahal #Luvshyari #parinshah 
Jot Chahal
84
#LuvShyari #Sneharitu #JotChahal #hindishayari Best Poems / Shayaries of Sneha Ritu by LuvShyari 
 पोस्ट लेवल : Hindi Shayari ♥ Love Shayari ♥ Poems Poetry Sneha Ritu
Sanjay  Grover
416
Photo by Sanjay Groverचांद से चिट्ठी आई है के दुनिया आनी-जानी है मंदिर-मस्ज़िद यहीं बना लो, मंज़र बड़ा रुहानी हैगांधीजी का नाम रटो हो, पहने हो जैकेट और कोटलंगोटी के नाम पे फिर क्यूं मरी तुम्हारी नानी हैआधी-पौनी दिखे सचाई,समझा ख़ुदको ज्ञानी हैअंधे कैसे होते होंगे...
Abhishek Kumar
336
उन दिनों जब भगत सिंह को फांसी की ख़बरें सुनाई जा रही थी, लोगों ने खूब कवितायेँ लिखी उनके लिए. खूब आलेख छपे भगत सिंह और उनके विचारों के बारे में. आज इस पोस्ट में पढ़िए कुछ ऐसी ही कवितायें -तस्वीर : लाला लाजपत के द्वारा खोले गए नेशनल कॉलेज के छात्र थे भगत सिंह. उस...