ब्लॉगसेतु

Jot Chahal
307
Sacha Pyaar Nahi Hai (Hindi Poetry by Ranjot Singh ) Book Name:  The Voice of Heart Ebook : click here for buyPaperback : Click here for buy***सच्चा प्यार नहीं है***समुंदर में कश्ती किनारा नहीं है, तेरा मुझसे मिलना दोबारा नही...
 पोस्ट लेवल : Ranjot Singh Poems Jot Chahal
नई कलम
353
नज़्म १ (ख़ुदा)एक ही पैगाम थातो क्यू इजाद की गईये अलग-अलग राहें?क्यू बांटना पड़ाएक ही पैगाम कोअलग-अलगकिताबों में?क्यू तामीर नहीं की गईएक ही मुकद्दस किताब?के जिसमें सिर्फ मुहब्बत मुहब्बतऔर मुहब्बत होती.....इसके अलावा कुछ नहींजिसे एक होना थागर वो एक होतातो फिर क...
Jot Chahal
79
110+ Latest Poetry of Parin Shah (IG: @_twisted_pearl_) on LuvShyari Sponsor by Jot Chahal#jotchahal #Luvshyari #parinshah 
Jot Chahal
79
#LuvShyari #Sneharitu #JotChahal #hindishayari Best Poems / Shayaries of Sneha Ritu by LuvShyari 
 पोस्ट लेवल : Hindi Shayari ♥ Love Shayari ♥ Poems Poetry Sneha Ritu
Sanjay  Grover
410
Photo by Sanjay Groverचांद से चिट्ठी आई है के दुनिया आनी-जानी है मंदिर-मस्ज़िद यहीं बना लो, मंज़र बड़ा रुहानी हैगांधीजी का नाम रटो हो, पहने हो जैकेट और कोटलंगोटी के नाम पे फिर क्यूं मरी तुम्हारी नानी हैआधी-पौनी दिखे सचाई,समझा ख़ुदको ज्ञानी हैअंधे कैसे होते होंगे...
Abhishek Kumar
190
उन दिनों जब भगत सिंह को फांसी की ख़बरें सुनाई जा रही थी, लोगों ने खूब कवितायेँ लिखी उनके लिए. खूब आलेख छपे भगत सिंह और उनके विचारों के बारे में. आज इस पोस्ट में पढ़िए कुछ ऐसी ही कवितायें -तस्वीर : लाला लाजपत के द्वारा खोले गए नेशनल कॉलेज के छात्र थे भगत सिंह. उस...
Sanjay  Grover
707
ग़ज़लताज़गी-ए-क़लाम को अकसरयूं अनोखा-सा मोड़ देता हूंजब किसी दिल से बात करनी होअपनी आंखों पे छोड़ देता हूंसिर्फ़ रहता नहीं सतह तक मैंसदा गहराईयों में जाता हूंजिनमें दीमक ने घर बनाया होवो जड़ें, जड़ से तोड़ देता हूं08-07-1994कैसी ख़ुश्क़ी रुखों पे छायी हैलोग भी हो गए बु...
Abhishek Kumar
190
पिछले सप्ताह मेरी छोटी बहन निमिषा की शादी  थी. निमिषा जिसे  मैं अक्सर "निम्मो" कह कर बुलाता हूँ, वो मेरी सबसे प्यारी बहन है. उसके प्यारे दुलारे से किस्से आप यहाँ मेरे ब्लॉग पर लगातार पढ़ते आये हैं. निमिषा की शादी थी, तो कुछ ऐसा तो उसे  तोहफे के रूप मे...
 पोस्ट लेवल : Nimisha My Poems Nimisha Ki Shaadi
Abhishek Kumar
366
आज बेहद ख़ास दिन है मेरे लिए. आज जन्मदिन है मेरी दीदी, प्रियंका गुप्ता का. इस ब्लॉग से वो मेरे से ज्यादा जुड़ी हुई हैं. वो नहीं होती तो शायद ये ब्लॉग बहुत पहले बंद हो चुका होता. आज उनके जन्मदिन पर उन्हीं की तीन अप्रकाशित कवितायेँ यहाँ साझा कर रहा हूँ.. 1. &...
 पोस्ट लेवल : Poems Priyanka Gupta कवितायें
Ratan Singh Shekhawat
54
अमर धरा री रीत आ,अमर धरा अहसान |लीधौ चमचौ दाल रो,सिर दीधो रण-दान ||१२४||इस वीर भूमि की कृतज्ञता प्रकाशन की यह अमर रीत रही है कि दल के एक चम्मच के बदले में यहाँ के वीरों ने युद्ध में अपना मस्तक कटा दिया ||नकली गढ़ दीधो नहीं ,बिना घोर घमसाण |सिर टूटयां बिन किम फिरै,अ...
 पोस्ट लेवल : Poems Video Dohe Hathilo Rajasthan