ब्लॉगसेतु

आदित्य सिन्हा
659
इंकार से इकरार तक  उल्लास भरा वो पल,प्रफुल्लित सभी जन,हर्षित और आनंदित,विवाहोत्सव में मगन ,दूर कोने से छम छम,इक निर्मल तनु यौवन,निश्चल तत्पर पग संग,हाथों में शोभती थाल,  हौले हौले विनीत विनीत,सबको मिठाई बाँट रही ,&...
आदित्य सिन्हा
523
H for HeavenAditya Sinha09.04.2020
 पोस्ट लेवल : English Poetry # A to Z Challenge Heaven
आदित्य सिन्हा
659
हिज़ाब - H For Hizab आदित्य  सिन्हा09. 04 . 2020
आदित्य सिन्हा
659
गिले शिक़वे आदित्य सिन्हा 08. 04 . 2020 
आदित्य सिन्हा
523
G for Gender EqualityAditya Sinha08.04.2020
 पोस्ट लेवल : Gender Equality G # A to Z Challenge Poetry
MediaLink Ravinder
430
इस बार का विषय था पत्ते, जिन पर बहुत ही खूबसूरती से लिखा गयालुधियाना: 7 अप्रैल 2020: (रेक्टर कथूरिया//हिंदी स्क्रीन)::कोरोना का कहर टूटा तो इससे बचाव के लिए लॉक डाऊन सबसे आवश्यक था। लॉक डाउन के बिना कोई और चारा  भी नहीं था लेकिन इसके लागू होते ही ज़िंदगी थ...
आदित्य सिन्हा
523
F for Flesh & BloodEcstatic you were,O Mama dear,When first you missed,Count of days, monthly this year,Stealthily you checked,And got assured, Jubilant at heart, You announced  to world.Elated Daddy you Hugged tight,And with Grandma you danced,...
 पोस्ट लेवल : Flesh & Blood # A to Z Challenge Poetry
आदित्य सिन्हा
659
    फलक     क्या जल्दी पड़ी थी ऐ चाँद तुझे,चार पहर पूरी थी अभी रात बाकी, अभी तो महज़ उसके पेहलू में हम थे बैठ,ज़ुल्फ़ों संग हमने ली अंगड़ाई थी,रात की स्याह शीतल में घुल कर, फैली थी खुशबू हवा के संग मि...
 पोस्ट लेवल : Hindi Poetry फ़लक F #AtoZchallenge #A to Z Challenge
आदित्य सिन्हा
659
एहसासकोरे दिल पे लिख गया ज़ब नाम तेरा,तू हाँ कर या ना कर, ये तेरी मर्ज़ी,खुदा ने रूबरू कराने से पहले,न रज़ा मांगी थी न दी थी अर्ज़ी।फकत, गुस्ताख़ मैं फिर कैसे,गुनाह कुदरत ने जब फ़रमाई,चिलमन के झरोखे से झांका तुमने,नज़रों ने नज़रों संग ली अंगड़ाई।तुम्हें बुलाय...
 पोस्ट लेवल : एहसास Hindi Poetry #AtoZchallenge
आदित्य सिन्हा
523
E - End is the beginningEnd is not the end as it seem,The nascent origin here begin.Where the horizon kiss the stream,Golden beam from beyond gleam.Crawling is loved, but never perpetual,It needs to end and pave way to foot,Only When the child sheds fathers grip,Mo...
 पोस्ट लेवल : End # A to Z Challenge E End is the Beginning Poetry