ब्लॉगसेतु

Jot Chahal
80
Poetry Name: Sister's Love( Bhen Da Pyaar )Poet : Ranjot SinghPoetry Language : PunjabiFirst Publish Date on Blog's : 28-03-2020* ਭੈਣ ਦਾ ਪਿਆਰ *ਅੱਜ ਲਿਖਣਾ ਚਾਹੁੰਦਾਂ ਭੈਣ ਲਈਜਿਹਨੇ ਬਚਪਨ ਨਾਲ ਗੁਜ਼ਾਰਿਆ ਏਮੈਥੋਂ ਦੂਰ ਹੋ ਗਈ ਬੇਸ਼ੱਕ ਉਹਤਾਂ ਵੀ ਦਿਲ ਵਿੱਚ ਘਰ ਮੇਰੇ ਉਸਾਰਿਆ ਏ ਯਾਦ ਆ ਜਾਂਦੀਆਂ...
 पोस्ट लेवल : Ranjot Singh Poem Punjabi Language Poetry
Jot Chahal
296
Poetry Name: Sister's Love( Bhen Da Pyaar )Poet : Ranjot SinghPoetry Language : PunjabiFirst Publish Date on Blog's : 28-03-2020* ਭੈਣ ਦਾ ਪਿਆਰ *ਅੱਜ ਲਿਖਣਾ ਚਾਹੁੰਦਾਂ ਭੈਣ ਲਈਜਿਹਨੇ ਬਚਪਨ ਨਾਲ ਗੁਜ਼ਾਰਿਆ ਏਮੈਥੋਂ ਦੂਰ ਹੋ ਗਈ ਬੇਸ਼ੱਕ ਉਹਤਾਂ ਵੀ ਦਿਲ ਵਿੱਚ ਘਰ ਮੇਰੇ ਉਸਾਰਿਆ ਏ ਯਾਦ ਆ ਜਾਂਦੀਆਂ...
 पोस्ट लेवल : Ranjot Singh Poetry
Vidyut Maurya
119
देश भर में तालाबंदी के बीचदिल्ली के बहुमंजिले इमारत के छोटे से फ्लैट में कैद होना...ये किसी कारावास की तरह ही तो है...आप खिड़की से झांक सकते हैंपर बाहर कदम नहीं रख सकते।इस अकेलेपन के बीचबचपन का गांव खूब याद आयानहर के किनारे का पीपल का पेड़जेठ की दुपहरी में जिसकी छा...
 पोस्ट लेवल : POETRY
लोकेश नशीने
554
ख़्वाब देखना तो जैसेभूल चुकी हैं आँखेंऔर नींद भी मानोअब, पहचानती ही नहींबस, थोड़ा सा आसरा हैइन यादों काउन बातों काजिसे महसूस किया है दिल नेदूरियों के बाद भीसिमट गई है कुछ पल मेंउस मुहब्बत की ख़ुश्बूमगरअब सिर्फ सन्नाटा हैइतना सन्नाटा किउकताने लगी हैतन्हाई भीचित्र साभ...
 पोस्ट लेवल : lokesh nashine कविता poetry तन्हाई
Jot Chahal
80
Poetry Name: Tera Intzaar ਤੇਰਾ ਇੰਤਜ਼ਾਰLanguage : PunjabiWriter.Poet : Ranjot Singh Published book Name: Running Water (Wagdee Paani)Buy Book Here : Click here*ਤੇਰਾ ਇੰਤਜ਼ਾਰ*ਪਹਿਲਾਂ ਕਾਂ ਬੋਲੇ ਬਨੇਰੇ ਤੇਹੁਣ ਘੁੱਗੀਆਂ&nb...
 पोस्ट लेवल : Ranjot Singh Punjabi Poetry
Jot Chahal
296
Poetry Name: Tera Intzaar ਤੇਰਾ ਇੰਤਜ਼ਾਰLanguage : PunjabiWriter.Poet : Ranjot Singh Published book Name: Running Water (Wagdee Paani)Buy Book Here : Click here*ਤੇਰਾ ਇੰਤਜ਼ਾਰ*ਪਹਿਲਾਂ ਕਾਂ ਬੋਲੇ ਬਨੇਰੇ ਤੇਹੁਣ ਘੁੱਗੀਆਂ ਵੀ&nbsp...
 पोस्ट लेवल : Punjabi Poetry
Bharat Tiwari
23
रघुवीर सहाय की ये 5 बेहतरीन अंतिम कविताएँउनके मरणोपरांत प्रकाशित अंतिम कविता संग्रह 'एक समय था' से हैं.संग्रह के संपादक सुरेश शर्मा लिखते हैं: "इसमें अधिकांश कविताएँ उनके जीवन के आख़िरी चार-पाँच वर्षों की हैं जो कि ज्यादातर अप्रकाशित हैं। सहायजी के निधन के बाद...
Jot Chahal
80
ਕੁਝ ਲਿਖਿਆ ਕੁਝ ਲਿਖਿਆ ਪਾਕ ਮੁਹੱਬਤ ਲਈਕੁਝ ਲਿਖਿਆ ਦਰਦ ਵਿਛੋੜੇ ਲਈਕੁਝ ਲਿਖਿਆ ਰਾਵੀ ਕੰਢੇ ਲਈਕੁਝ ਲਿਖਿਆ ਦੇਸ਼ ਦੇ ਵੰਡੇ ਲਈਕੁਝ ਲਿਖਿਆ ਰੁਖਾਂ ਸੁਖਾਂ ਲਈਕੁਝ ਲਿਖਿਆ ਸ਼ਾਮ ਹਨੇਰੇ ਲਈਕੁਝ ਲਿਖਿਆ ਸੂਰਜ ਚੜ੍ਹਦੇ ਲਈਕੁਝ ਲਿਖਿਆ ਬੱਦਲ ਭੱਜਦੇ ਲਈਕੁਝ ਲਿਖਿਆ ਪਾਣੀ ਚੱਲਦੇ ਲਈਕੁਝ ਲਿਖਿਆ ਆਪਣੇ ਵੱਲ ਦੇ ਲਈਕੁਝ ਲਿਖਿਆ ਪਿਆਰ ਪ...
 पोस्ट लेवल : Ranjot Singh Poetry
MediaLink Ravinder
430
नई और स्थापित कलमों ने अपने कलाम से समाज को झंकझौरालुधियाना: 8 मार्च, 2020: (*हिंदी स्क्रीन टीम)::सतलुज क्लब में आज आयोजित साहित्यिक कार्यक्रम कई मायनों में अलग था। बिलकुल  सुखद अहसास। साहित्यिक और अन्य विविध क्षेत्रों से सबंधित लोगों...
Manav Mehta
414
देर रात जब मोहब्बत नेदस्तक दी चौखट परमैनें अपनी रूह को जलादिल को रोशन कर दियालफ्ज़ दर लफ्ज़ चमकने लगे ज़हन मेंमैनें एक एक करकेइश्क़ के सभी हर्फ़ पढ़ डालेइश्क़ मेहरबान हुआ मुझ परदुआएं कबूल हुईं मेरीहर्फे- मोहब्बत मेंतेरा नाम लिखा पाया...!!देर रात जब मोहब्बत नेदस...