साल्हेर किले कि लडाई और प्रतापराव गुजरतराई के दुसरे युद्ध के बाद भारत मे बाहरी(मुस्लीम) राजकर्ताओ ने अपनी सत्ता की शुरवात की थी | इसके बाद खुले मैदानमें लड़ी गयी ज्यादातर लड़ाईयो स्थानिक राजा हारे गए | पर समय हर वक्त एकजैसा नही होता...! साल था १६७२, महाराष्ट्र मे छत्...