ब्लॉगसेतु

Bharat Tiwari
23
असहमति में उठा एक हाथविष्णु नागर लिखित रघुवीर सहाय की जीवनीAsahmati Mein Utha Ek Hath : Raghuvir Sahay Ki Jeewani by Vishnu Nagarविष्णु नागर लिखित रघुवीर सहाय की जीवनी "असहमति में उठा एक हाथ" वरिष्ठ आलोचक श्री रवीन्द्र त्रिपाठी, #शब्दांकन_फेसबुक_लाइव 5 जून, शाम 6...
Bharat Tiwari
23
रघुवीर सहाय की ये 5 बेहतरीन अंतिम कविताएँउनके मरणोपरांत प्रकाशित अंतिम कविता संग्रह 'एक समय था' से हैं.संग्रह के संपादक सुरेश शर्मा लिखते हैं: "इसमें अधिकांश कविताएँ उनके जीवन के आख़िरी चार-पाँच वर्षों की हैं जो कि ज्यादातर अप्रकाशित हैं। सहायजी के निधन के बाद...
prabhat ranjan
34
हम जानकी पुल वाले अक्सर देर लेट हो जाते हैं. मेरे प्रिय कवि रघुवीर सहाय का जन्मदिन कल था यह लेख आज लगा रहे है. मेरी प्रिय लेखिकाओं में एक कविता ने लिखा है. आजादी के बाद हिंदी कविता को जितना बड़ा मुहावरा रघवीर सहाय ने दिया शायद किसी कवि ने नहीं दिया. यह मेरा अपना मत...